शनिवार, 14 जून 2014

भारत मुसलमानों के लिए स्वर्ग क्यों है ?

विश्व की कुल जनसंख्या में प्रत्येक चार में से एक मुसलमान है। मुसलमानों की 60 प्रतिशत जनसंख्या एशिया में रहती है तथा विश्व की कुल मुस्लिम जनसंख्या का एक तिहाई भाग अविभाजित भारत यानी भारत, पाकिस्तान और बंगलादेश
में रहता है। विश्व में 75 देशों ने स्वयं को इस्लामी देश घोषित कर रखा है। पर, विश्व में  जितने भी बड़े-बड़े मुस्लिम देश माने जाते हैं, मुस्लिमों को कहीं भी इतनी सुख-सुविधाएं या मजहबी स्वतंत्रता नहीं है जितनी कि भारत में। इसीलिए किसी ने सच ही कहा है कि 'मुसलमानों के लिए भारत बहिश्त (स्वर्ग) है।' परन्तु यह भी सत्य है कि विश्व के एकमात्र हिन्दू देश भारत में इतना भारत तथा हिन्दू विरोध कहीं भी नहीं है, जितना 'इंडिया दैट इज भारत' में है। इस विरोध में सर्वाधिक सहयोगी हैं-सेकुलर राजनीतिक स्वयंभू बुद्धिजीवी तथा कुछ चाटुकार नौकरशाह। उनकी भावना के अनुरूप तो इस देश का सही नाम 'इंडिया दैट इज मुस्लिम' होना चाहिए .क्योंकि  विश्व  में भारत  एकमात्र  ऐसा  देश  है  जहाँ केवल   जनसंख्या   के  आधार  पर   मुसलमानों  की  जायज  नाजायज  मांगें  पूरी  कर दी जाती  हैं  , भले वह  देश   को  बर्बाद  करने में  कोई  कसर  नहीं  छोड़ें  ,
1-कम्युनिस्ट देश तथा मुस्लिम
आज   जो  कम्यूनिस्ट  सेकुलरिज्म  के  बहाने  मुसलमानों     के अधिकारों  की  वकालत  करते  हैं  , उन्हें  पता होना  चाहिए  कि कम्युनिस्ट  देशों  में  मुसलमानों   की  क्या  हालत  है।
विश्व के दो प्रसिद्ध कम्युनिस्ट देशों-सोवियत संघ (वर्तमान रूस) तथा चीन में मुसलमानों की जो दुर्गति हुई वह सर्व विदित है तथा अत्यन्त भयावह है। कम्युनिस्ट देश रूस में भयंकर मुस्लिम नरसंहार तथा क्रूर अत्याचार हुए। नारा दिया गया 'मीनार नहीं, मार्क्स चाहिए।' हजारों मस्जिदों को नष्ट कर हमाम (स्नान घर) बना दिए गए। हज की यात्रा को अरब पूंजीपतियों तथा सामन्तों का धन बटोरने का तरीका बताया गया। चीन में हमेशा से उसका उत्तर-पश्चिमी भाग शिनचियांग-मुसलमानों की वधशाला बना रहा। इस वर्ष भी मुस्लिम अधिकारियों तथा विद्यार्थियों को रमजान के महीने में रोजे रखने तथा सामूहिक नमाज बढ़ने पर प्रतिबन्ध लगाया गया।

2-यूरोपीय देश तथा मुस्लिम

सामान्यत: यूरोप के सभी प्रमुख देशों-ब्रिटेन, फ्रांस, जर्मनी, आदि में मुसलमानों के अनेक सामाजिक रीति-रिवाजों पर प्रतिबंध है। प्राय: सभी यूरोपीय देशों में मुस्लिम महिलाओं के बुर्का पहनने तथा मीनारों के निर्माण तथा उस पर लाउडस्पीकर लगाने पर प्रतिबंध है। बिट्रेन में इंडियन मुजहीद्दीन सहित 47 मुस्लिम आतंकवादी संगठनों पर प्रतिबंध लगा हुआ है। ब्रिटेन का कथन है कि ये संगठन इस्लामी राज्य स्थापित करने और शरीयत कानून को लागू करने का अपना लक्ष्य प्राप्त करने के लिए हिंसा का प्रयोग करते हैं। जर्मनी में भी बुर्के पर पाबन्दी है। जर्मनी के एक न्यायालय ने मुस्लिम बच्चों के खतना (सुन्नत) को 'मजहबी अत्याचार' कहकर प्रतिबंध लगा दिया है तथा जो डाक्टर उसमें सहायक होगा, उसे अपराधी माना जाएगा। जर्मनी के कोलोन शहर की अदालत ने बुधवार को सुनाए गए एक फैसले में कहा कि धार्मिक आधार पर शिशुओं का खतना करना उनके शरीर को कष्टकारी नुकसान पहुंचाने के बराबर है.और प्राकृतिक नियमों में हस्तक्षेप है
जर्मनी में मुस्लिम समुदाय इस फैसले का कड़ा विरोध कर रहे हैं और वे इस बारे में कानूनविदों से मशविरा कर रहे हैं.
आशा है विश्व के सारे देश जल्द ही जर्मनी का अनुसरण करने लगेंगे.इसी  तरह फ्रांस विश्व का पहला यूरोपीय देश था जिसने पर्दे (बुर्के) पर प्रतिबंध लगाया।

3-मुस्लिम देशों में मुसलमानों की   हालत 
विश्व के बड़े मुस्लिम देशों में भी मुसलमानों के मजहबी तथा सामाजिक कृत्यों पर अनेक प्रकार के प्रतिबंध है। तुर्की में खिलाफत आन्दोलन के बाद से ही रूढ़िवादी तथा अरबपरस्त मुल्ला- मौलवियों की दुर्गति होती रही है। तुर्की में कुरान को अरबी भाषा में पढ़ने पर प्रतिबंध है। कुरान का सार्वजनिक वाचन तुर्की भाषा में होता है। शिक्षा में मुल्ला-मौलवियों का कोई दखल नहीं है। न्यायालयों में तुर्की शासन के नियम सर्वोपरि हैं। रूढ़िवादियों की सोच तथा अनेक पुरानी मस्जिदों पर ताले डाल दिए गए हैं। (पेरेवीज, 'द मिडिल ईस्ट टुडे' पृ. 161-190; तथा ऐ एम चिरगीव -इस्लाम इन फरमेन्ट, कन्टम्परेरी रिव्यू, (1927)। ईरान व इराक में शिया-सुन्नी के खूनी झगड़े-जग जाहिर हैं। पाकिस्तान के मानवाधिकार आयोग ने भी यह स्वीकार किया है कि यहां मुसलमान भी सुरक्षित नहीं हैं। यहां मुसलमान परस्पर एक-दूसरे से लड़ते रहते हैं। उदाहरण के लिए जमात-ए-इस्लामी पाकिस्तान ने अहमदिया सम्प्रदाय के हजारों लोगों को मार दिया। इसके साथ हिन्दुओं के प्रति उनका क्रूर व्यवहार, जबरन मतान्तरण, पवित्र स्थलों को अपवित्र करना, हिन्दू को कोई उच्च स्थान न देना आदि भी जारी है। उनकी क्रूरता के कारण पाकिस्तानी हिन्दू वहां से जान बचाकर भारत आ रहे हैं। वहां हिन्दुओं की जनसंख्या घटकर केवल एक प्रतिशत के लगभग रह गई है। हिन्दुओं की यही हालत 1971 में बने बंगलादेश में भी है। वहां भी उनकी जनसंख्या 14 प्रतिशत से घटकर केवल 1 प्रतिशत रह गई है। साथ ही बंगलादेशी मुसलमान भी लाखों की संख्या में घुसपैठियों के रूप में जबरदस्ती असम में घुस रहे हैं।
अफगानिस्तान की अनेक घटनाओं से ज्ञात होता है जहां उन्होंने हिन्दुओं तथा बौद्धों के अनेक स्थानों को नष्ट किया, वहीं जुनूनी मुस्लिम कानूनों के अन्तर्गत मुस्लिम महिलाओं को भी नहीं बख्शा, नादिरशाही फतवे जारी किए। मंगोलिया में यह प्रश्न विवादास्पद बना रहा कि यदि अल्लाह सभी स्थानों पर है तो हज जाने की क्या आवश्यकता है? सऊदी अरब में मुस्लिम महिलाओं के लिए कार चलाना अथवा बिना पुरुष साथी के बाहर निकलना मना है। पर यह भी सत्य है कि किसी व्यवधान अथवा सड़क के सीध में न होने की स्थिति में मस्जिद को हटाना उनके लिए कोई मुश्किल नहीं है।
4-भारत में मुस्लिम तुष्टीकरण
अंग्रेजों ने भारत विभाजन कर, राजसत्ता का हस्तांतरण कर उसे कांग्रेस को सौंपा। साथ ही इन अलगाव विशेषज्ञों ने, अपनी मनोवृत्ति भी कांग्रेस का विरासत के रूप में सौंप दी। अंग्रेजों ने जो हिन्दू-मुस्लिम अलगाव कर तुष्टीकरण की नीति अपनाई थी, वैसे ही कांग्रेस ने वोट बैंक की चुनावी राजनीति में इस अलगाव को अपना हथियार बनाया। उसने मुस्लिम तुष्टीकरण में निर्लज्जता की सभी हदें पार कर दीं। यद्यपि संविधान में 'अल्पसंख्यक' की कोई निश्चित परिभाषा नहीं दी गई हैं, परन्तु व्यावहारिक रूप से चुनावी राजनीति को ध्यान में रखते हुए मुसलमानों को अल्पसंख्यक मान लिया गया तथा उन्हें खुश करने के लिए उनकी झोली में अनेक सुविधाएं डाल दीं। उनके लिए एक अलग मंत्रालय, 15 सूत्री कार्यक्रम व बजट में विशेष सुविधाएं, आरक्षण, हज यात्रा पर आयकर में छूट तथा सब्सिडी आदि। सच्चर कमेटी तथा रंगनाथ आयोग की सिफारिशों ने इन्हें प्रोत्साहन दिया।  भारतीय संविधान की चिन्ता न कर, न्यायालय के प्रतिरोध के बाद भी, मजहबी आधार पर आरक्षण के सन्दर्भ में कांग्रेस के नेता वक्तव्य देते रहते हैं।
5-हज  सब्सिडी  में  घोटाले 
विश्व में मुस्लिम देशों में हज यात्रा के लिए कोई विशेष सुविधा नहीं है। बल्कि मुस्लिम विद्वानों ने हज यात्रा के लिए दूसरे से धन या सरकारी चंदा लेना गुनाह बतलाया है। पर कांग्रेस शासन में 1959 में बनी पहली हज कमेटी के साथ ही सिलसिला शुरू हुआ हज में सुविधाओं का। सरकारी पूंजी का खूब दुरुपयोग हुआ। हज घोटालों के लिए कई जांच आयोग भी बैठे। हज सद्भावना शिष्ट मण्डल, हज में भी 'वी.आई.पी. कोटा' आदि की सूची बनने लगी। सूचना के अधिकार के तहत मांगी गई जानकारी के बाद जम्मू-कश्मीर के अब्दुल रसीद ने सरकार द्वारा सदभावना शिष्टमण्डल के सदस्यों के चयन पर प्रश्न खड़ा किया। क्योंकि उसमें 170 हज यात्रियों के नाम बदले हुए पाए गए। आखिर सर्वोच्च न्यायालय ने दखल दिया तथा 'अति विशिष्टों की' संख्या घटाकर 2500 से केवल 300 कर दी।
सामान्यत: प्रत्येक हज यात्री पर सरकार का लगभग एक लाख रु. खर्च होता है, परन्तु सरकारी प्रतिनिधियों पर आठ से अट्ठारह लाख रु. खर्च कर दिए जाते हैं। गत वर्ष राष्ट्रीय हज कमेटी ने यात्रियों को कुछ कुछ अन्य सुविधाएं प्रदान की, जिसमें 70 वर्ष के आयु से अधिक के आवेदक व्यक्तियों के लिए निश्चित यात्रा, चुने गए आवेदकों को आठ महीने रहने का परमिट तथा हज यात्रा पर जाने वाले यात्री के लिए पुलिस द्वारा सत्यापन में रियायत दी गई। इसके विपरीत श्रीनगर से 135 किलोमीटर की कठिन अमरनाथ यात्रा के लिए, जिसमें इस वर्ष 6 लाख 20 हजार यात्री गए, और आने-जाने के 31 दिन में 130 श्रद्धालु मारे गए, जिनके शोक में एक भी आंसू नहीं बहाया गया।
6-भारत   का  इस्लामीकरण 
असम में बंगलादेश के लाखों मुस्लिम घुसपैठियों के प्रति सरकार की उदार नीति, कश्मीर में तीन वार्ताकारों की रपट पर लीपा-पोती, मुम्बई में 50,000 मुस्लिम दंगाइयों द्वारा अमर जवान ज्योति या कहें कि राष्ट्र के अपमान पर कांग्रेस राज्य सरकार और केन्द्र की सोनिया सरकार की चुप्पी तथा दिल्ली के सुभाष पार्क में अचानक उग आयी अकबराबादी मस्जिद के निर्माण को न्यायालय द्वारा गिराने के आदेश पर भी सरकारी निष्क्रियता, क्या यह आश्चर्यजनक नहीं है कि गत अप्रैल में भारत के तथाकथित सेकुलरवादियों ने हैदराबाद के उस्मानिया विश्वविद्यालय में गोमांस भक्षण उत्सव मनाया तथा उसकी पुनरावृत्ति का प्रयास दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में किया गया? मांग की गई थी कि छात्रावासों में गोमांस भक्षण की सुविधा होनी चाहिए। पर सरकार न केवल उदासीन बनी रही बल्कि जिन्होंने इसका विरोध किया, उनके ही विरुद्ध डंडा चलाया गया। इस विश्लेषण के बाद गंभीर प्रश्न यह है कि कांग्रेस की मुस्लिम तुष्टीकरण अथवा वोट बैंक को खुश करने की इस नीति से मुस्लिम समाज का अरबीकरण हो रहा है या भारतीयकरण? क्या इससे वे भारत की मुख्य धारा से जुड़ रहे हैं या अलगावादी मांगों के पोषण से राष्ट्रीय स्थिरता के लिए खतरा बन रहे हैं? क्या चुनावी वोट बैंक की राजनीति, राष्ट्रहित से भी ऊपर है? देश के युवा विशेषकर पढ़े-लिखे  युवकों को इस पर गंभीरत से विचार करना होगा, ताकि  समाज की उन्नति के साथ राष्ट्र निर्माण में उनका सक्रिय सहयोग हो सके।

29 टिप्‍पणियां:

  1. Maine apke kai post padhe jinse pata chalta hai ke aap sirf galat tareeke se hamare Mazhab ke baare me Apne logo ko bhadka rahe hai Unhe sachai se door rakh rahe hai aur sach ka pata nahi lagne de rahe hai aap kai baato ko jante nhi hai aur jo kuchh batate hai wo bhi sahi nhi batate, jaise ki Quran me kaha gaya hai namaz mat padho..... apne sirf itna hi bataya ye nahi bataya ke poori baat kya hai..
    Jise mai sahi tareeke se bata raha hu....
    Quraan me kaha gaya hai namaz mat padho, jab tum nashe ki halat me ho... Magar aap ne apne hi logo aisi kai cheeje galat batakar unhe gumrah kiya hai.

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

      हटाएं
    2. Kya galat aur Kya sahi hai.. Duniya DEKH rahi hai... Aur aap loog bahut confused ho yaar.. Har Cheez main Confusion..
      Quran ko leke Confusion, ISlam ko leke confusion..
      Koi keheta hai shai to koi sunni to koi ahamadiya to koi barelvi to koi Salafi to koi Wahabi..
      Ye loog ye kyo nahi dekhte ke Islam actually Islam hi hai.. aur RAPE, LOOT ect Jayaz hai..

      Agar tum iss post to GALAT aur JHUT kehete ho.. to ISS POST main Diyegaye Baatain jo QURAN, SIRAT air HADISH ki hawale se hai, USS KO JHUT Sabit Karo...

      NAHO to CHUP baitho..

      हटाएं
    3. Indian College Girls Pissing Hidden Cam Video in College Hostel Toilets


      Sexy Indian Slut Arpana Sucks And Fucks Some Cock Video


      Indian Girl Night Club Sex Party Group Sex


      Desi Indian Couple Fuck in Hotel Full Hidden Cam Sex Scandal


      Very Beautiful Desi School Girl Nude Image

      Indian Boy Lucky Blowjob By Mature Aunty

      Indian Porn Star Priya Anjali Rai Group Sex With Son & Son Friends

      Drunks Desi Girl Raped By Bigger-man

      Kolkata Bengali Bhabhi Juicy Boobs Share

      Mallu Indian Bhabhi Big Boobs Fuck Video

      Indian Mom & Daughter Forced Raped By Robber

      Sunny Leone Nude Wallpapers & Sex Video Download

      Cute Japanese School Girl Punished Fuck By Teacher

      South Indian Busty Porn-star Manali Ghosh Double Penetration Sex For Money

      Tamil Mallu Housewife Bhabhi Big Dirty Ass Ready For Best Fuck

      Bengali Actress Rituparna Sengupta Leaked Nude Photos

      Grogeous Desi Pussy Want Big Dick For Great Sex

      Desi Indian Aunty Ass Fuck By Devar

      Desi College Girl Laila Fucked By Her Cousin

      Indian Desi College Girl Homemade Sex Clip Leaked MMS


      ............./´¯/)........... (\¯`\
      ............/....//........... ...\\....\
      .........../....//............ ....\\....\
      ...../´¯/..../´¯\.........../¯ `\....\¯`\
      .././.../..../..../.|_......_| .\....\....\...\.\..
      (.(....(....(..../.)..)..(..(. \....)....)....).)
      .\................\/.../....\. ..\/................/
      ..\................. /........\................../
      ....\..............(.......... ..)................/
      ......\.............\......... ../............./

      CLICK HERE FOR ENJOY HARDCORE PORN MOVIE

      हटाएं
    4. Indian College Girls Pissing Hidden Cam Video in College Hostel Toilets


      Sexy Indian Slut Arpana Sucks And Fucks Some Cock Video


      Indian Girl Night Club Sex Party Group Sex


      Desi Indian Couple Fuck in Hotel Full Hidden Cam Sex Scandal


      Very Beautiful Desi School Girl Nude Image

      Indian Boy Lucky Blowjob By Mature Aunty

      Indian Porn Star Priya Anjali Rai Group Sex With Son & Son Friends

      Drunks Desi Girl Raped By Bigger-man

      Kolkata Bengali Bhabhi Juicy Boobs Share

      Mallu Indian Bhabhi Big Boobs Fuck Video

      Indian Mom & Daughter Forced Raped By RobberIndian College Girls Pissing Hidden Cam Video in College Hostel Toilets


      Sexy Indian Slut Arpana Sucks And Fucks Some Cock Video


      Indian Girl Night Club Sex Party Group Sex


      Desi Indian Couple Fuck in Hotel Full Hidden Cam Sex Scandal


      Very Beautiful Desi School Girl Nude Image

      Indian Boy Lucky Blowjob By Mature Aunty

      Indian Porn Star Priya Anjali Rai Group Sex With Son & Son Friends

      Drunks Desi Girl Raped By Bigger-man

      Kolkata Bengali Bhabhi Juicy Boobs Share

      Mallu Indian Bhabhi Big Boobs Fuck Video

      Indian Mom & Daughter Forced Raped By Robber

      Sunny Leone Nude Wallpapers & Sex Video Download

      Cute Japanese School Girl Punished Fuck By Teacher

      South Indian Busty Porn-star Manali Ghosh Double Penetration Sex For Money

      Tamil Mallu Housewife Bhabhi Big Dirty Ass Ready For Best Fuck

      Bengali Actress Rituparna Sengupta Leaked Nude Photos

      Grogeous Desi Pussy Want Big Dick For Great Sex

      Desi Indian Aunty Ass Fuck By Devar

      Desi College Girl Laila Fucked By Her Cousin

      Indian Desi College Girl Homemade Sex Clip Leaked MMS











































































































































































































































































































































































































































































































      हटाएं
  2. Mai apko aaj aisi baate batane ja raha hu jo aap jaise kai pandit chhupate hai aur logo ko sach ka pata nhi lagne dete unhe Gumrah karte hai..
    Mere Hindu bhaiyo Is sach ko jarur jane Jo apko ye apke pandit nahi batayenge..

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. Tum jo sab cheezo ki daba karte ho wo JHUT ki buniyad pe khadi hai.. Isebhi quran mian bhi ye baat aya hai to JHUT BOLO..

      Pehele TUM KHUD pad lo ke ASAL main baat kya hai, phir dusro ko samjhana..

      हटाएं
  3. हिन्दू धार्मिक ग्रन्थों में मुहम्मद तथा अहमद का उल्लेख
    आज के इस पोस्ट में हम आपकी सेवा में कुछ ऐसे प्रमाण पेश कर रहे हैं जिन से सिद्ध होता है कि "कल्कि अवतार" अथवा "नराशंस" जिनके सम्बन्ध में हिन्दू धार्मिक ग्रन्थों ने भविष्यवाणी की है वह मुहम्मद सल्ल0 ही हैं। क्योंकि कुछ स्थानों पर स्पष्ट रूप में "मुहम्मद" और "अहमद" का वर्णन भी आया है।

    देखिए भविष्य पुराण ( 323:5:8)

    " एक दूसरे देश में एक आचार्य अपने मित्रों के साथ आएगा उनका नाम महामद होगा। वे रेगिस्तानी क्षेत्र में आएगा।"

    श्रीमदभग्वत पुराण : उसी प्रकार श्रीमदभग्वत पुराण (72-2) में शब्द "मुहम्मद" इस प्रकार आया है:

    अज्ञान हेतु कृतमोहमदान्धकार नाशं विधायं हित हो दयते विवेक

    "मुहम्मद के द्वारा अंधकार दूर होगा और ज्ञान तथा आध्यात्मिकता का प्रचनल होगा।"

    यजुर्वेद (18-31) में है:

    वेदाहमेत पुरुष महान्तमादित्तयवर्ण तमसः प्रस्तावयनाय

    " वेद अहमद महान व्यक्ति हैं, यूर्य के समान अंधेरे को समाप्त करने वाले, उन्हीं को जान कर प्रलोक में सफल हुआ जा सकता है। उसके अतिरिक्त सफलता तक पहंचने रा कोई दूसरा मार्ग नहीं।"

    इति अल्लोपनिषद में अल्लाह और मुहम्मद का वर्णन:

    आदल्ला बूक मेककम्। अल्लबूक निखादकम् ।। 4 ।।अलो यज्ञेन हुत हुत्वा अल्ला सूय्र्य चन्द्र सर्वनक्षत्राः ।। 5 ।।अल्लो ऋषीणां सर्व दिव्यां इन्द्राय पूर्व माया परमन्तरिक्षा ।। 6 ।।अल्लः पृथिव्या अन्तरिक्ष्ज्ञं विश्वरूपम् ।। 7 ।।इल्लांकबर इल्लांकबर इल्लां इल्लल्लेति इल्लल्लाः ।। 8 ।।ओम् अल्ला इल्लल्ला अनादि स्वरूपाय अथर्वण श्यामा हुद्दी जनान पशून सिद्धांतजलवरान् अदृष्टं कुरु कुरु फट ।। 9 ।।असुरसंहारिणी हृं द्दीं अल्लो रसूल महमदरकबरस्य अल्लो अल्लाम्इल्लल्लेति इल्लल्ला ।। 10 ।।इति अल्लोपनिषद

    अर्थात् ‘‘अल्लाह ने सब ऋषि भेजे और चंद्रमा, सूर्य एवं तारों को पैदा किया। उसी ने सारे ऋषि भेजे और आकाश को पैदा किया। अल्लाह ने ब्रह्माण्ड (ज़मीन और आकाश) को बनाया। अल्लाह श्रेष्ठ है, उसके सिवा कोई पूज्य नहीं। वह सारे विश्व का पालनहार है। वह तमाम बुराइयों और मुसीबतों को दूर करने वाला है। मुहम्मद अल्लाह के रसूल (संदेष्टा) हैं, जो इस संसार का पालनहार है। अतः घोषणा करो कि अल्लाह एक है और उसके सिवा कोई पूज्य नहीं।’’

    इस श्लोक का वर्णन करने के पश्चात डा0 एम. श्रीवास्‍तव अपनी पुस्तक "हज़रत मुहम्‍मद (सल्ल.) और भारतीय धर्मग्रन्‍थ" मे लिखते हैं:

    (बहुत थोड़े से विद्वान, जिनका संबंध विशेष रूप से आर्यसमाज से बताया जाता है, अल्लोपनिषद् की गणना उपनिषदों में नहीं करते और इस प्रकार इसका इनकार करते हैं, हालांकि उनके तर्कों में दम नहीं है। इस कारण से भी हिन्दू धर्म के अधिकतर विद्वान और मनीषी अपवादियों के आग्रह पर ध्यान नहीं देते। गीता प्रेस (गोरखपुर) का नाम हिन्दू धर्म के प्रमाणिक प्रकाशन केंद्र के रूप में अग्रगण्य है। यहां से प्रकाशित ‘‘कल्याण’’ (हिन्दी पत्रिका) के अंक अत्यंत प्रामाणिक माने जाते हैं। इसकी विशेष प्रस्तुति ‘‘उपनिषद अंक’’ में 220 उपनिषदों की सूची दी गई है, जिसमें अल्लोपनिषद् का उल्लेख 15वें नंबर पर किया गया है। 14वें नंबर पर अमत बिन्दूपनिषद् और 16वें नंबर पर अवधूतोपनिषद् (पद्य) उल्लिखित है। डा. वेद प्रकाश उपाध्याय ने भी अल्लोपनिषद को प्रामाणिक उपनिषद् माना है। ‘देखिए: वैदिक साहित्य: एक विवेचन, प्रदीप प्रकाशन, पृ. 101, संस्करण 1989।)..

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. Hahahahahahahahahahahaha.
      Benami ji.... aapke is lekh se 1 baar phir ye prove hota hai ki Muslims anpadh hain aur .... ya to unme buddhi hai nahi, aur agar hai to wo istemaal nahi karte. Kisi sanskrit ke jaankaar ko ye mantra padhwakar in ka meaning puchhiye.

      हटाएं
    2. Bhai aakhir anpadh hi ho tum ,

      zakir naik k chele ho kya ?

      arth ka anarth bna k musalmano ko ullu bna rhe ho benami

      हटाएं
  4. Asha hai apko logo ko ye baat samajh me ayegi ke apse kis tarha sachai chhupai ja rahi hai...
    Allah apko Sahi rashte par laye..
    Ameen

    उत्तर देंहटाएं
  5. Mahfil Me Baat Unki Rahmat Ki Chal Rahi Hai.
    Duniya Mere Nabi Ke Sadke pe Pal Rahi Hai.
    Jis Zameen Par Pade Mere Sarkar Ke Kadam,
    Wo Zameen Ab Tak Sona Ugal Rahi Hai.....
    All 4 Comments Posted By:- Mohd.Aadil and Shahrukh

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. Jis sarzamin pe pade Aap ki Nabi ki KADAM waha Khoon, Bomb, Fydayin attack, Rape ye Saab Horahi hai..
      Aur Badastur ZARI hai..
      Ameen..

      हटाएं
  6. ऐ लोगो, बन्दगी इख्तियार करो अपने उस रब की जो तुम्हारा, और तुमसे पहले जो लोग हुए है उन सबका पैदा करनेवाला है, तुम्हारे बचने की आशा’ इसी प्रकार हो सकती है। (कुरआन, 2:21)

    (1. अर्थात दुनिया मे गलत देखने और गलत काम करने से, और आखिरत (परलोक) में अल्लाह की यातना (अजाब) से बचने की आशा।)

    ऐ लोगो, धरती मे जो हलाल (वैद्य) और अच्छी-सुथरी चीजे हैं उन्हे खाओं और शैतान के बताए हुए रास्तों पर न चलो। वह तुम्हारा खुला दुश्मन है।
    Mohd.Aadil

    उत्तर देंहटाएं
  7. उत्तर
    1. Koi kuch likh dega to kya tum maan jayoge?? nahi na..
      To phir hum kaise mane ???
      Arbopanishad Mugalo ki jamane main kisi ne likhithi. Aur Iska agar VEDIC CORE TEXT se match kroge to KOI Mel nahi khata..
      To phit UPANISHAD kaisa HOGAYA???

      हटाएं
  8. aap kahte ho bharat musalmano ke liye swarg hai...............
    shayad aap ko maloom nhi ki musalman bhi isi desh ke wo hindu hai jinhone islam qubool kiya aap aaj se 800 bars pahle ka itihas uthakar dekhe prithivi raj chauhan ke zamane me jab sultanul hind khwaja gareeb nawaj aaye tab unhone aaj se 800 saal pahle 11 lakh hinduo ko musalman banaya tab hindustan ki abadi mahaj 5 caror thi whi 11 lakh musalmano ki santan hai hum, hum log bhi isi mitti ke hai fark sirf itna hai hme baat samajh me aati hai magar afsos ki aap sab jaan kar bhi andhere me hai allah aap ko shi rasta dikhaye ..............
    AMEEN

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. Bhai mere.. Musalmano ko baat horahi hai.. Ye nahi bola gaya hai ki Koun musalman Kaise bana....
      Yese to islam aaya hi hai Conversion se.. Pehele Makka wale bhir jews, chistian dhire dhire islam aise hi phali.
      India main hindu ko Convert kara ke..
      I agree what you said before.. but this is not the topic...

      हटाएं
  9. गौरव आर्य4 जुलाई 2014 को 7:25 am

    बेनामी जी किस तरह कह सकते हो की अल्लाह उजाले में ले जाता है और वेद अंधियारे में जरा विस्तार से बताएँगे

    उत्तर देंहटाएं
  10. ठजझठफभढजछटशधृऋफभझडफफ

    उत्तर देंहटाएं
  11. आपस मे भाईचारे से रहो इसी मे सबकी भलाई है।

    उत्तर देंहटाएं
  12. 1947 के धार्मिक आधार पर द्विराष्ट्रवादी योजना के तहत भारत विभाजन के समय काँग्रेस समेत 'सेक्यूलर वोट' को सहिष्णुता और सेक्यूलरिज्म याद नहीं आ रहा था...??

    1947 से लेकर 2014 तक सेक्यूलर वोट और उनके राजनैतिक दलालों को सेक्यूलरिज्म किस भाषा में और किनके लिये याद आ रहा था इसका ज्वलंत उदाहरण 1990 के दशक से ही कश्मीर से हिंदू नरंसहार और विस्थापन से समक्ष है जबकि "सेक्यूलर आजादी" मिले तबतक 43-45 साल हो गये थे...केरल और आंध्रप्रदेश में समक्ष है, तमिलनाडु और यूपी, बिहार, आसाम समेत दिल्ली, मेवात और राजस्थान में समक्ष है कि कैसा और कौनसा सेक्यूलरिज्म .....??

    "बिनय न मानत जलधि जड़ गए तीनि दिन बीति।
    बोले राम सकोप तब भय बिनु होइ न प्रीति॥"

    बस यही सुंदरकांड की चौपाई ही अब हम सब की किस्मत और भविष्य का संपूर्णता से निर्धारण करने में सक्षम है, नेता पार्टी या कोई सेक्यूलर मसीहा नहीं....!!

    एकमत, संगठित हिंदू शक्ति से भाईचारे कायम रखने और सिर्फ 'अमन ही कायम' रखने के इच्छुक अल्पसंख्यकों की ही बढती संख्या स्वयमेव उनके मुंह से वंदे मातरम् भी बुलवायेगी और भारत माता की जय भी साथ ही टोपी पहना कर "सेक्यूलरिज्म को मानते सेक्यूलर" का सर्टिफिकेट भी वो तब ही देने की हिम्मतें करा करेंगे जब खुद. 'तिलक लगवा कर और मौऴी/कलावा' अपनी कलाईयों पर स्वयमेव बंधवायेंगे..!!

    सनद रहे मित्रों, हम हिंदू भाईचारे के याचक नहीं क्योंकि हम तो 'कानूनन बहुसंख्यक' है और जो यह बात ना माने, मनवा सकने लायक सिर्फ संगठित रह कर, शक्तिशाली रह कर ही सच को मानने पर मजबूर किया जाता है...हम बाजार हैं, हमारी ही क्रय शक्ति है हम ही इन सांप्रदायिक कट्टर जेहादियों के, सेक्यूलर मंगतों के भाग्यविधाता हैं सो सच को स्वीकार करो मित्रों ...हम याचक नहीं हैं, हम भाईचारे का उपहार नहीं देंगें अब अपितु भाईचारे को उपहार में लेंगे वो अपनी पसंद से, ठोकबजा कर निश्चित हो कर ...अन्यथा 1947 के बाद और खासकर 1971 में बंगलादेश निर्माण की कांग्रेसी गलती के बाद तथा कश्मीर से हिंदू नरसंहारी विस्थापन के बाद तो हर मुसलमान और सेक्यूलर वोट विदेशी है, भारतीय कतई नहीं...भारत में हर मुसलमान विदेशी है जिसका कोई जड़ मूल या संबंध ना भारत से है ना ही भारतीय जल, जंगल ,जमीन से...सनद रहे ।

    हिंदू, हिंदुत्व, हिंदुस्तान
    यही हो हमारी पहचान
    वन्दे मातरम्

    उत्तर देंहटाएं
  13. अब समय की मांग के अनुसार हिंदुत्व और राष्ट्रवादिता का आपसी संबंध बहुत गहरा, भावनात्मक तथा कट्टरता का परिचायक बन ही जाना चाहिए यह शांति कायम रहने की और अखंड राष्ट्र के रूप में ससम्मान, जिंदा रहने तक की एकमात्र प्राथमिकता है !

    याचक की तरह हिंदूओं को भाईचारे की डफली और चुटकियां बजाना बंद करके सगर्व हां 'मैं हिंदू हूँ ' कहने मात्र के साथ साथ हर हिंदू के साथ सिर्फ हिंदू भारतीय होने के कारण संगठित होना शुरू कर देना पडेगा तब ही संगठित विराट हिंदू शक्ति और समाज के साथ जेहादी और सेक्यूलर हाथ बढा कर भाईचारे की ताली बजाने आ सकेंगे ....

    अन्यथा हिंजडों की तरह विधर्मी म्लेच्छों और आतंकी, दंगाई जेहादी मानसिकता के समक्ष 66 साल से हो रहे भाईचारा नौटंकी और सेक्यूलर सहिष्णुता का क्या फायदा ही हुआ है स्पष्ट कर दें ....??

    उत्तर देंहटाएं

  14. "बिनय न मानत जलधि जड़ गए तीनि दिन बीति।
    बोले राम सकोप तब भय बिनु होइ न प्रीति॥"

    यानि कि 'भय बिनु प्रीत नाहिं गोसाई' गोस्वामी तुलसीदास भी कह गये हैं मित्रों -

    सो अब यह भारत देश सिर्फ राष्ट्र सर्वप्रथम और बहुसंख्यक सम्मान से ही आगे बढेगा...क्योंकि वही हर राष्ट्र की प्राथमिक पहचान होती है..!!

    दुनिया का हर विकसित या विकासशील देश गवाह है इसी नीति के तहत ही प्रगति किये देश के रूप में...!!
    फिर कहता हूँ मित्रों कि वसुधैव कुटुंबकम और बेमतलब की भाईचारे की चुटकियों से पकी खिचडी ना देश को संतुष्ट करे जैसा भोजन होती है ना नागरिकों को संतुष्ट करे सा भोजन होती है, ,यह अकाट्य सचाई हमारा भारत अब मान ही ले ....!!
    हिंसक जानवर भेडियों को प्रेम व भाईचारा दिखाकर साथ सुलाने से भेडियों के द्वारा अचानक ही खून पी लिये जाने और चीर फाड देने की ,पिशाच बन जाने की संभावनाऐं बढ जाती है क्योंकि उनके गले में ना पट्टा होता है ना आपके पास उस समय दुर्भाग्यवश हंटर या अंकुश ही जो उनको कठोरता से नियमानुसार भेडिये होने की वजह से नियंत्रित ही कर सके ..सो हिंसक पशु खुल्लमखुल्ला विचरने से नागरिक जीवन समेत राष्ट्रीय व आंतरिक सुरक्षा ही मजाक बन जाती है..!!

    भाईचारे व धर्मनिरपेक्षता की एकतरफा चुटकियां बजाने से इंकार करे सभी बहुसंख्यक ....और सेक्यूलरिज्म तथा भाईचारे का थोथा ज्ञान सिर्फ हम बहुसंख्या को बांटते हर लोगों के कनपटे के नीचे थप्पड़ बजा कर एक तरफा चुटकी और एक हाथ की ताली का तात्पर्य अच्छे से समझा देवें...ताकि आईन्दा ऐसे बकलोल मानसिक रोगी सेक्यूलर दलाल हमेशा के लिये अल्पसंख्यकों को ही भाईचारे, सेक्यूलरिज्म की ज्ञानपरक शिक्षाएं बांटने को विकसित व तत्पर हों...!!
    हरे सांप्रदायिकों के आतंक व जेहाद की खूनी समस्या को 70% समाप्त करने का 'एक मात्र हल' है - समान नागरिक संहिता अर्थात् Universal Civil Code ...!!

    उत्तर देंहटाएं
  15. kya benami ji aap kuch bhi likh rahe he jab ki sach ka pata to sab ko he,, kaise Islam failaya gaya he, kaise Islam ke liye masumo ki jane ja rahi he aur inhe aap Jihad ka nam de rahe he agar koi aisa karne ki salah deta he to wo kabhi sarvavyapi ek Ishwar nahi kahalaya ja sakata vo to sirf ek shaitan ki kahalaya ja sakata he
    ant me muslim dharm manav ekata ke liye nahi apitu manav jati nashta karne ke pryas me banaya gaya ek kalpnik patra he

    उत्तर देंहटाएं
  16. यह भंदफोडू की बातों का जवाब दो, सब हदीसें और कुरआन से l वर्ना इस्लाम छोड़ के हिन्दू बन जाओ l हिन्दू हो के भी शिर्क नहीं होता, क्यूँ के ला-सूरत तोह हिन्दुओं ने ही यानी आप के ही बाप-दादों ने दुनिया और अरबियों कजो सिखाया था l यानी आप और हमारे बाप का माल ... ये अरबी जंगली लोग आप को और हम को ही बेचने चले हैं, वोह भी झूठ और ज़बरदस्ती से, यानी तकिया और तलवार से. l क्या दुनिया में सब बेवकूफ हैं जो इतना भी न देख सकें? यदि ला-सूरत को मानना है तो इसमें इस्लाम का लेबल लेने की क्या ज़रूरत? अरबियो को बाप बोलने की क्या ज़रूरत? अपने ही हिन्दु-हिंदुस्थानी बाप-दादों के नाम से ला-सूरत करो l वगरना साफ़ गुलामी ही है l बाप कौन पता नहीं वाली बात है l और बहुत भड़ास और असली इमानदारी है तो जाओ अरबस्तान/तुराक्स्तान/समरकंद/बुखारा पर हमला करके वोह करो जो उन्होंने तुम्हारि-हमारी माँ-बहनों और पुरखों के साथ किया? हम आप को हर तरह से मदद करेंगे l कौन "इंसान" या मनुष्य कहलाने वाला ऐसे अपमानो को सहन कर के और ऊपर से उन्ही अपमानो को अल्लाह की नेमत कहेर्गा? और उसके बाद वाही शेतानो से जुड़ के अपनी बाकी माँ-बहनो का गजवा करने के ख्वाब देव्खेगा? हिंदुत्व में, आप कइ अस्लियत में आप को दावत है l बाप बनके जियो l आप दुनिया के बाप हैं, बेटे नहीं l

    उत्तर देंहटाएं
  17. हिंदुत्व में दावेअत है सब तथाकथित मुसलमानों को, यानी हमारे भाई-बहनों को l आ जाइए l देखते हैं किसकी माँ ने सवा सेर सुंठ खाई है, जो आपको वापस आते रोक सके, और बाद में आपका बाल भी बांका कर सके l देखते हैं की मुसलमानों के छप्पन देशों में से किस्में दम है आपको हिन्दू बन्ने से रोकने के लिए l वोह सब छप्पन देश मिलाके भी अपने हिन्दुस्थान-सिंह के सामने एक चूहे या कुत्ते की तरह हैं l उनकी कोई हेसियत नहीं है l सिर्फ नाम के छपान हैं l अब कोई औरंगजेब नहीं आ सकता l किस से डरते हैं आप लोग? आ जाइए, वापस घर.. घर वापसी कर लें l सुबह का मज़बूरी से गया, शाम को वापस आ ही सकता है l कोई शिर्क नहीं और भूख नहीं l अपने घर में भी है इश्वर-ला-सुरत और रोटी l l चिट्ठी आई है ...आई है... चिट्ठी आई है..

    उत्तर देंहटाएं
  18. दुनिया में हर साल ६० लाख मुसलमान इस्लाम को छोड़ के इसाई या हिन्दू बन रहे हैं, अल जजीरा की रिपोर्ट के अनुसार l देखिये: https://www.youtube.com/watch?v=jbARhSI2xio

    उत्तर देंहटाएं
  19. islam ka allah hi sabse bada aatankvaadi hai: dekhiye: https://www.youtube.com/watch?v=peppSQC0XTA

    उत्तर देंहटाएं