शुक्रवार, 29 अगस्त 2014

हिन्दुओं को मिटाने की जिहादी योजना !

जिहाद  इस्लाम का अनिवार्य  कर्तव्य   है  ,जिसका उद्देश्य  पूरे  विश्व  से गैर मुस्लिमों का  सफाया  करके   इस्लामी खिलाफत कायम   करना  है   , चूँकि मुसलमानों  की   नजर में इस समय  काफिरों  की  सरकार  है  , इसलिए मुसलमान     उसे  गिराने की  योजना   बना रहे हैं   , इसके लिए वह  हर तरह के  हथकंडे   अपना   रहे  हैं   , इसके बारे में  दिनांक 31  जुलाई  2014  को " जिहादियों के नए हथकंडे  "  शीर्षक   से एक  लेख भी  प्रकाशित  किया   गया  था  , यद्यपि जिहादी  भारत के विरुद्ध  आतंकी  योजना अफगानिस्तान  और  पाकिस्तान   में  बना रहे हैं   ,  लेकिन  इस बात  तय है  कि जब भी  भारत के खिलाफ  जिहाद   होगा तो  यहाँ के मुसलमान  उनके  साथ  हो  जायेंगे  . अभी  तो   यहाँ   के मुसलमान  विभिन्न   अपराध  करके  देश में अस्थिरता   का  माहौल   बना रहे   हैं  और  जब  पूरे देश में अफरा  तफरी   फ़ैल जाएगी  तो बाहरी जिहादी  देश में  घुस  जायेंगे  , मुसलमानों   की  इस  जिहादी  योजना  का पर्दाफाश  " अनिमेष  राउल " ने किया  है    जो  " Executive Director of Research at the New Delhi-based Society for the Study of Peace and Conflict (SSPC  " हैं .जिसका पूरा  विवरण 13  जून  2014  को  ही  प्रकाश  में  आगया था  , लेकिन सरकार  मोदी  के 15 अगस्त के  भाषण  तक  बैठी  रही ,
बाद में जो जानकारी  मिली  वह काफी चिंता का विषय  है .
 क्योंकि  इसमे बताया है   कि ,

1-कंधार  से  भारत  की  तरफ 

जानकारी के मुताबिक   इन  दिनों  सभी  इस्लामी  जिहादी  गिरोह  विश्व   में  इस्लामी  हुकूमत  यानि  खिलाफत   कायम  करने में  लगे हुए हैं   , और  आज उनका मुख्य   निशाना   भारत   ही   है  , अल  कायदा के  सरगना  अयमान   जवाहरी  और और मौलाना असीम  उम्र  ने   अल इसबाह नामकी  मिडिया के माध्यम से  विडिओ  और  सन्देश  भारत   भर में   मुसलमानों    तक   भेज  दिए   है   ,  ताकि  भारत के  युवा  मुस्लिम    तोड़फोड़  और  बलात्कार जैसे  अपराधों  से  देश  की  सरकार  को अस्थिर    कर  दें   , और   जब  सरकार  कमजोर  होगी  तो  बाहरी   जिहादियों   को  देश में  घुसने  में  आसानी   हो  जाएगी  , अपने इस  उद्देश्य  को  पूरा   करने के लिए अल  कायदा के मौलाना "अबु  मुसायब अब्दुल  वदूद -أبو مصعب عبد الودود " ने  अफगानिस्तान में  एक आतंकी  गिरोह बना   लिया है।  जिसका  नाम  "तंजीम  अंसार फिल बिलाद अल हिन्द -  تنظیم انصار التوحید فی بلاد الھند " है .इस संगठन    ने  अब   तक  कई वीडियो  जारी  किये  हैं   ,जिनमे  भारत के  मुसलमानों  को " अल शबाब  الشباب‎-" यानी  युवा (youth  )  सम्बोधित करके  भारत में  हर प्रकार  से ऐसे अपराध  करने के  लिए उकसाया  गया है  ,जिस से जिस से देश में दंगे भड़क  जाये  . इसके आलावा एक चालीस मिनट के विडिओ में  विश्व  के  सभी आतंकी  गुटों  को  भारत की  तरफ  हिजरत  करने   का   आदेश   दिया  गया है   , विडिओ में उर्दू में लिखा है  '
""ادارہ العصابة کی جانب سے پیش خدمت ہے مسئول امورشرعیہ انصارالتوحید 
مولاناعبدالرحمن الہندی حفظہ الله کا بیان بعنوان " قندھار سے دہلی کی طرف  "
नोट- इसका हिंदी लिप्यांतरण है  " इरादये अल असाबाह की जानिब  से , पेश खिदमत है  , मसऊल उमूरे शरियाः ,अंसार उत तौहीद , मौलाना अब्दुर रहमान  अल हिन्दी , हिफ्जुल्लाह ,का बयान , बि उन्वान "कंधार से देहली की तरफ "

इसके अलावा मौलाना अब्दरहमान  हिंदी ने एक दस मिनट के विडिओ   में  भारत के  मुसलमानों   से कहा है  कि  वह बाबरी  मस्जिद  और  गुजरात   के दंगों   का बदला  लेने  के  लिए भारत  के सभी औद्योगिक और आर्थिक   केन्द्रों  को  नष्ट  करने का  प्रयास  करें  .

2-जिहादी दुष्प्रचार 

जिहादी  प्रचार  मिडिया  " अल इस्बाह  العصابۃ-"  ने  एक  विडिओ    जारी   किया  है  ,जिसमे  बताया है  कि अफगानिस्तान  स्थित  हेरात  में भारत के  वाणिज्य दूतावास में 23 मई को जिहादियों   ने  हिन्दू  सरकार के सामने   अपनी ताकत  दिखाने  के लिए  विस्फोट  किये  थे  , यह बाबरी  मस्जिद  गिराने  और गुजरात में  मुसलमानों   की  हत्या का बदला है  , इस  विडिओ  में चेतावनी   दी गयी  है कि जल्द ही  भारत पर जिहादी  हमला होगा , जिसकी  मदद भारत के " उसूदुल हिन्द  - الاسود الهند" यानी हिन्द के शेर ( lions of India) मुसलमान  करेंगे  . इस विडिओ में   कहा है  कि भारतके  मुसलमान  संप्रदायवादी  दंगो  और राजनीतिक मतभेद  का  भरपूर   फायदा  उठायें  , इस से  भारत में  जिहाद  जल्दी  कामयाब  होगी  . मौलाना अब्दुल रहमान हिंदी  ने  एक 18  मिनट के विडिओ  में  भारत के  मुसलमानों  से कहा है कि "मुसलमानों अगर तुम आज  इसबात को  नहीं  समझोगे तो तुम  नष्ट  हो  जाओगे  "Oh Indian Muslims, if you can’t understand, you will perish "इस विडिओ   में  मुसलमानों जिहाद के लिए उकसाने  के लिए सात  बन्दुकधारी  पुलिस  वाले  बताये गए हैं   जो  मुसलमानों  पर  गोली  चला  रहे   हैं .इस विडिओ   में आगे बताया है कि सन 1947 से आजादी के बाद से ही मुसलमान  भयभीत  होकर जिंदगी गुजार  रहे हैं  , यहाँ तक वह  जिस गाय  को  खाकर  अपना  पेट  भरते  हैं   ,   होकर  उसी  गाय  की  पूजा  करने पर  मजबूर   हैं  , अल असबाह  ने अरबी ,उर्दू  और  बंगला भाषामे ऐसे कई विडिओ   भारत के  बड़े बड़े  शहरों  में भेज  दिए  हैं  ,जिस  से भारत के मुसलमान   देश भर में  दंगे  फसाद और जघन्य  अपराध   करके  खुद को  जिहादी  मानने  लगें ,और  आत्मघाती  बम  बन  कर  मरने वाले  जिहादियों   के  लिए  कुरान की  यह आयात भी   दी गयी   है  
“जो लोग अल्लाह की राह में क़त्ल हुए हैं इन्हें मुर्दा न समझो वो ज़िन्दः हैं अपने रब के पास से रिज्क़ पा रहे हैं,"

अल अस्बाह ने भारत के युवा  मुस्लीमों    को  जिहाद के  लिये सभी  बड़े शहरों  में हर प्रकार  के अपराध  करने  का आदेश दिया है जिस से  बाहरी जिहादियो    का रास्ता साफ हो जाए  . इसमे बहार  के जिहदियों  को  भारत के जिहादियों   का  साथ  देने  को  कहा है  , और  कुरान  की  यह  आयत दी गयी  है  ,

" मुस्लिम देशों के जिहादी ,गैर मुस्लिम देशों में रहने वाले जिहादियों की सहायता करें , ऐसा करना मुसलमानों के लिए अनिवार्य है " 
सूरा -अनफाल 8:72 


3-खुरासान  देश  की  स्थापना 

जिहादी संगठन "अंसार उत तौहीद ( AUT)  ने विडिओ  और उर्दू  प्रकाशनों   में भारतीय  मुसलमानों   से कहा है कि  वह  भारत की हिंदूवादी  सरकार को  उखड फेकने में    हर   तरीकों    का  प्रयोग  करें   ,  तभी  इस  मध्य्   एशिया  में एक ऐसी  इस्लामी  खिलाफत  कायम  हो  सकती  है  , और उस पूरेदेश का नाम  "खुरासान  " होगा  . इस देशमे तुर्कमेनिस्तान  , उजबेकिस्तान  , ताजिकिस्तान   भी शामिल   होंगे  , और इन  सबके जिहादियों  के भारत के मुसलमान   दिल्ली   के  लाल  किले  पर  खुरासानी  झंडा  फहरा   देंगे   .

Black Flag of Khurasan

http://www.crwflags.com/fotw/images/a/af%7Dqaeda.gif


4-भारत  में  जिहादियों का जाल 

दिल्ली से  प्रकाशित अंगरेजी  अख़बार  मेल टू डे ( Mail today)  के दिनांक 23 मई  2014 के  अनुसार पाकिस्तान के कई  आतंकी गिरोह  इस समय पूरे भारत में  सक्रीय हैं  . और  भारत के मुस्लिम युवक अंसार उत तौहीद ( AUT)  में  शामिल  हो  रहे हैं   ,इन में से कई  युवक गुप्त रूप से  पाकिस्तान  के वजीरिस्तान   में जाकर  आतंकवाद   की ट्रेनिग   भी   लेकर  आये हैं  . अंगरेजी  अखबार दि हिन्दू (the Hindu  ) दिनाक  22 मई  2014 के अनुसार  अधिकांश   मुस्लिम  युवक  उत्तर प्रदेश  के  आजम गढ़  और  कर्णाटक  के भटकल  जिले के  हैं  . जिनको पूरे भारत में आतंक फ़ैलाने  , तोड़फोड़  करने  और विस्फोट  करने की  जिम्मेदारी  दी गयी  है  , और  स्थानीय  मुसलमानों को  उनकी आर्थिक और कानूनी   मदद    देने के  निर्देश   दिए  गए हैं .
इस बात   का खुलासा तब  हुआ जब  ख़ुफ़िया एजेंसियों   ने  दिनांक  30 मई 2014  को चेन्नई से  इंडियन मुजाहिद  के एक  सदास्य  "हैदर अली "  को गिरफ्तार   कर लिया   . और जब  पूछताछ  पर  हैदर अली ने बताया  कि 26 अक्टूबर  2013 को  पटना  में बी जे पी  की  रैली  में  कई विस्फोट  इंडियन  मुजाहिद ने किये थे   ,  जिसका नेतृत्व   सफदर  नागौरी   ने   किया  था  . हैदर अली ने  बताया कि इन  विस्फोटों   का उद्देश्य  पूरे भारत में   अफरातफरी  का  माहौल पैदा  करना था  ,  और भारत  को  हिन्दुओं  से मुक्त   कराना   है  , जिसकी शुरुआत  कश्मीर  से होगी  .
हैदर अली ने यह भी बताया कि कश्मीर की सीमा पर हमारे  जिहादी  तैयार  बैठे हैं  , कि जैसे ही  सीमा पर  तनाव  बढ़ने  पर युद्ध की  नौबत  आ  जाएगी तो पाक सेना की  मदद  से जिहादी कश्मीर  से भारत के अंदर  घुस   जायेंगे  ,  और उसी  समय भारत के अंदर के सभी जिहादी गुट  सक्रीय   हो जायेंगे  . और यह गुट तब तक शांत  नहीं  होंगे जब  तक  उनका  मकसद पूरा  नहीं   होगा  , इसलिए भारत के मुस्लिम  युवकों  को   हिंडन के खिलाफ जिहाद के लिए  मानसिक   रूप  से तैयार   किया  जारहा है  ,


5-भड़काऊ  भाषण का नमूना 

विदेशी धन से बिके  हुए भारत के मुल्ले मस्जिदों   में मुसलमानों  पर होने वाले अन्याय की  ऐसी झूठी खबरें फैलाते  रहते हैं   जिस से दंगे  चालू  रहते हैं   ऐसा ही    भाषण का एक  नमूना  देखिये ,

रमजानुल मुबारक के बाबरकत महीने भी मुसलमानों को सुकून ना मिल सका यू.पी.के एक गॉंव में जब सभी मुसलमान तरावीह के लिए जा चुके थे बुज़दिल हिंदुओ ने मुसलमानों के घरों पर यकबारगी हमला कर दिया और लूट मार की लेकिन मुसलमानों की सबसे बड़ी दुशमन पुलिस ने बड़ी में नुकसान उठाए हुए मुसलमानों को गिरफतार करके उनके ज़खमों पर नमक छिड़कने मे कोई कसर ना छोड़ी जबकि हिंदुओं पहले ने मुसलसल तीन दिनों तक पूरे गॉंव का मुहासरा किए रखा लेकिन पुलिस की तरफ से ना कोई एकशन ना गिरफतारी मेरे भाइयो इन नसली बुज़दिलों का इलाज सिरफ तलवार है .जिसको अपने से ताक़तवर देखते हैं उसे अपना देवता बना लेते जबकि इनके यहॉं कमजोरों को जीने का कोई हक़ नही"

अब जिहादियों  और  मुसलमानों  के ऐसे  इरादों   के बारे में  जानकारी होने पर भी  हिन्दू  सिर्फ  उत्सव  मनाने  ,  जयंतियाँ  मनाने  , मंदिरों   में क्विंटलों  सोना चांदी   चढाने  को  ही  धर्म  मान लेते  हैं  , और सामने  शत्रु साफ  दिखाई देने पर उसी तरह  आँखें   बंद  कर लेते हैं  ,जैसे  कबूतर  बिल्ली को देख कर  आँखें  बंद करके  मान लेता है  कि सामने  बिल्ली  नहीं  है  . हिन्दू यदि  यही  कबूतरी  नीति  पर चलेंगे  तो  न तो  देश  बचेगा  और न  हिन्दू धर्म ही रहेगा   . हिन्दुओं   को इतिहास  से सबक  लेने की  जरुरत  है  ,  याद रखिये जब  मेहमूद गजनवी  सोमनाथ पर हमले की तैयारी  कर रहता तो हिन्दू राजा यज्ञ  अनुष्ठान  कर रहे थे ,और सोच रहे थे कि  भगवान शिव अपने तीसरे  नेत्र से म्लेच्छों  को भस्म  कर देंगे  , हिन्दुओं   को समझना होगा  कि कोई  देवी  देवता उनको नहीं  बचा सकेगाजबतक वह  खुद देश के और हिन्दुओं  के दुश्मन  जिहादियों  को ईंट का जवाब पत्थर  से नहीं  देते  .

 श्री  गुरु गोविन्द सिंह  जी  ने  कहा   है  ,

" यही  देहि आज्ञा  तुरक  को खपाऊँ  , गऊ घातियों   को जगत  से मिटाऊँ "

http://bab-ul-islam.net/showthread.php?p=58877#post58877

 http://www.sspconline.org/sspcinmedia/AnsarTawhid_TransnationalJihadistThreat_India

3 टिप्‍पणियां:

  1. भारत की आत्मा को झकझोरती हुई पोस्ट-----!

    उत्तर देंहटाएं
  2. शर्मा जी धन्य है आप और आपका ज्ञान आपको कोटि कोटि नमन
    निवेदन है की कृपा करके हमें इसी तरह मार्गदर्शन देते रहे आप पर माँ सरस्वती और माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहे ।

    उत्तर देंहटाएं
  3. शर्मा जी धन्य है आप और आपका ज्ञान आपको कोटि कोटि नमन
    निवेदन है की कृपा करके हमें इसी तरह मार्गदर्शन देते रहे आप पर माँ सरस्वती और माँ लक्ष्मी की कृपा बनी रहे ।

    उत्तर देंहटाएं