गुरुवार, 18 दिसंबर 2014

मुसलमानों को हिन्दू बनाना इस्लामी कार्य है

सारी  दुनिया   जान   चुकी   है   कि मुसलमान  गैर मुस्लिमों   का  धर्म  परिवर्तन  करा कर  सारी   दुनिया  पर   इस्लामी हुकूमत  कायम  करना   चाहते हैं  . और अपने   इस नापाक   मंसूबे   को  कामयाब   करने के लिए मुसलमान   पहले तो  इस्लाम  की  तारीफें   करते है  , और  दूसरों  के  धर्म  में कमियां    निकालते  रहते   है  , लेकिन  जब  उनके  झांसे   ने  नहीं  फसते  और इस्लाम  कबूल  नहीं  करते तो  मुसलमान् अपना  असली  खूंखार   और अत्याचारी    स्वभाव   दिखाने   लगते हैं  , और   गैर मुस्लिमों   का  धर्म  परिवर्तन  कराने के लिए  हत्या  ,  बलात्कार  ,   आतंक जैसे  जघन्य  कुकर्म  करने  लगते  हैं   , और  जब  इन इस्लाम   के दलालों  से   पूछ जाता   है  क़ि  तुन  लोगों  का जबरन  धर्म  परिवर्तन   करा   कर  मुसलमान   क्यों   बनाते  हो ?तो   यह  धूर्त  कहते हैं  कि " दुनिया  में पैदा  होने वाला  हरेक  बच्चा  मुसलमान   ही  होता  है  .  लेकिन   आप  लोग  ही  उसे  हिन्दू   ,  बौद्ध  ,जैन   या  सिख   बना   देते    हो  . जो  अल्लाह   की   मर्जी  के  खिलाफ  है   . हम तो  लोगों  को उनके  पैदायशी  धर्म  यानि  इस्लाम  में शामिल  करके अल्लाह  के  हुक्म   का  पालन  कर  रहे   हैं  . ,यही   बात जाकिर  नायक   जैसे इस्लामी  प्रचारक  ने  कही  है ,
देखिये विडिओ -Dr Zakir Naik - Every Child is born as a Muslim

https://www.youtube.com/watch?v=zLLsqYdRlk0

1-हदीस  के  अर्थ  में  चालाकी

इस्लाम   के  एजेंट   धूर्त मुल्ले हमेशा   दावा  करते  रहते हैं  कि  दुनिया   में  जो  भी  बच्चा  पैदा  होता   है  , अल्लाह   उसे  मुसलमान बना कर   ही  पीड़ा करता है  , ताकि   वह   बालक  सिर्फ  अल्लाह  की इबादत    किया  करे  , परन्तु माता   पिता   बच्चे  को यहूदी   ,ईसाई  या  अग्नि  पूजक     बना   देते   हैं  . मुल्ले  इस  बात   को  साबित   करने के लिए  इस   हदीस   का  हवाला   देते  हैं .और   बड़ी   चालाकी  से  इस  हदीस   का  यह  अर्थ     बताते   हैं  ,
"अबु हुरैरा  ने  कहा  कि  रसूल  ने  कहा   , हरेक  बच्चा सच्चे  धर्म   के साथ  पैदा   होता  है  , )अर्थात  केवल  अल्लाह की  ही इबादत  करना )लेकिन  अभिभावक  उसका  धर्म  परिवर्तन   करके यहूदी  , ईसाई   या  अग्नि  पूजक   बना  देते   हैं

Abu Huraira, narrated that the Prophet . said, "Every child is born with a true faith (i.e. to worship none but Allah Alone) but his parents convert him to Judaism or to Christianity or to Magainism,

"‏"‏ مَا مِنْ مَوْلُودٍ إِلاَّ يُولَدُ عَلَى الْفِطْرَةِ، فَأَبَوَاهُ يُهَوِّدَانِهِ أَوْ يُنَصِّرَانِهِ أَوْ يُمَجِّسَانِهِ،

सही   बुखारी  -जिल्द2 किताब 23  हदीस 467

2-पूरी हदीस और  असली  अर्थ
यहाँ  पर  अरबी  में पूरी  हदीस  दी  जा  रही   है  , इसमे  इस्लाम  या सच्चा  धर्म (a true religion  )  शब्द  नहीं  है  . बल्कि    फितरत  शब्द  दिया  गया   है  . मुसलमान  लोगों  को  धोखा  देने के लिए  इसका  अर्थ  इस्लाम  बता   देते  हैं  .

Here is the text of the Hadeeth, see if you can find the  word Islam in it anywhere. Its not in the Hadeeth '



حَدَّثَنَا عَبْدَانُ، أَخْبَرَنَا عَبْدُ اللَّهِ، أَخْبَرَنَا يُونُسُ، عَنِ الزُّهْرِيِّ، أَخْبَرَنِي أَبُو سَلَمَةَ بْنُ عَبْدِ الرَّحْمَنِ، أَنَّ أَبَا هُرَيْرَةَ ـ رضى الله عنه ـ قَالَ قَالَ رَسُولُ اللَّهِ صلى الله عليه وسلم ‏"‏ مَا مِنْ مَوْلُودٍ إِلاَّ يُولَدُ عَلَى الْفِطْرَةِ، فَأَبَوَاهُ يُهَوِّدَانِهِ أَوْ يُنَصِّرَانِهِ أَوْ يُمَجِّسَانِهِ، كَمَا تُنْتَجُ الْبَهِيمَةُ بَهِيمَةً جَمْعَاءَ، هَلْ تُحِسُّونَ فِيهَا مِنْ جَدْعَاءَ ‏"‏‏.‏ ثُمَّ يَقُولُ أَبُو هُرَيْرَةَ ـ رضى الله عنه ‏{‏فِطْرَةَ اللَّهِ الَّتِي فَطَرَ النَّاسَ عَلَيْهَا لاَ تَبْدِيلَ لِخَلْقِ اللَّهِ ذَلِكَ الدِّينُ الْقَيِّمُ‏}

पहले  दी  गयी   हदीस  का  मूल  अरबी  पाठ     इस प्रकार   है  ,इसमे  सच्चे  धर्म  (  इस्लाम  )  का    कहीं  भी  उल्लेख   नहीं  है  , बल्कि " अल  फितरत -  الْفِطْرَةِ"  शब्द    दिया  गया   है  . मुल्लों   ने  बड़ी  मक्कारी  से  इस शब्द   का  अर्थ "  सच्चा  धर्म (  )   का  मतलब इस्लाम      बना  दिया   है .इस   हदीस  में  अरबी    का  शब्द " फितरत  -  الْفِطْرَةِ   "   आया   है   ,  जिसका   अर्थ ( सच्चा  धर्म  ( a true faith   )      होता   है  .  लेकिन  मक्कार मुल्ले  लोगों  कीआँखों   में धूल   डाल  कर  इसका     तात्पर्य   इस्लाम बता देते   है  . और    कहते हैं  की  अल्लाह  हर   बच्चे   को  मुसलमान   के रूप में  पैदा  करता   है , इसलिए किसी  गैर   मुस्लिम  को जबरन , प्रलोभन  देकर  ,  या   छल   कर  मुस्लमान   बनाने में   कोई अपराध   नहीं  है   .


3-फितरत   क्या  है ?
 हदीस  में प्रयुक्त  अरबी  शब्द " फितरत - فطرة"   का  अर्थ   लोगों  को  धोखा  देने के लिए  जाकिर  नायक  जैसे  चालाक मुल्ले   इस्लाम  बता देते हैं।  लेकिन  वास्तव  में   अरबी   शब्दकोश  में फितरत  के कई   अर्थ  मिल  जाते  हैं  . उन में से कुछ  के  अंगरेजी  और  हिंदी  अर्थ  इस  प्रकार  हैं  ,
1-सलाह -صلاح "-righteousness-नीतिपरायणता

2-बिदानियाः -   بدائية "-Eternal-सनातन

3-अल तबीयतुल    बशरियाः  अन्नफियाह --الطبيعة البشرية النقية "-pure human nature-शुद्ध मानव प्रकृति

4-इजलाल -إجلال"-solemnity-संस्कारयुक्तता

यहां  पर  फितरत  शब्द  के  जितने  भी  अर्थ  दिए गएँ  है  ,  उन्हें  ध्यान   से  पढने से    स्पष्ट  होता  है  , फितरत के  जितने भी  अर्थ  है  वह सनातन  प्राचीन  वैदिक धर्म   में   मौजूद   हैं  .  इस्लाम   में  नहीं  . इसका  मतलब  है  कि पैदा होने  वाला  हरेक  बच्चा  हिन्दू  होता  है।   मुसलमान   नहीं !

4-फितरत का  परिवर्तन नहीं  हो   सकता

यह   बात  सिद्ध  हो  चुकी  है  कि हरेक  बच्चा  जन्म  से  हिन्दू  होता   है  और   कुरान  में  कहा  गया  है  ,

" अल्लाह  ने जो भी  बनाया  बढ़िया    बनाया  " सूरा -अस  सजदा32:7

"who made all things good "32:7.और  अल्लाह  की  रचना    में   परिवर्तन  नहीं   हो  सकता


"अबू  हुरैरा  ने  कहा  कि रसूल   ने  कहा  है  ,कि कोई   भी  बच्चा    फितरत  के बिना  पैदा  नहीं होता  "फिर  रसूल  बताने लगे कि अल्लाह  ने जिस फितरत    के  अनुसार  मनुष्य  को  बनाया   है  , उसमे   परिवर्तन    नहीं   हो   सकता  . यही   सच्चा  धर्म  है "

Abu Huraira reported Allah's Messenger  ,saying:
No child is born but upon Fitra. He then said. Recite: The nature made by Allah in which He created man, there is no altering of Allah's nature; that is the right religion.

"‏"‏ مَا مِنْ مَوْلُودٍ إِلاَّ يُولَدُ عَلَى الْفِطْرَةِ ‏"‏ ‏.‏ ثُمَّ يَقُولُ اقْرَءُوا

सही  मुस्लिम - किताब 33  हदीस 6425

कुरान   में   साफ   कहा  है  कि  अल्लाह मनुष्य  की   रचना   हर  प्रकार  से बढ़िया   बनायीं   है  , उसमे बदलाव करना मनुष्य की "  फितरत -  " प्राकृतिक  रचना  के   विरुद्ध   है  . अर्थात   अल्लाह   ने  मनुष्य   की  जैसी  फितरत   बनायीं   है  ,उसे  वैसा   ही  रहने  देना  चाहिए  . (e.g-verses in the Qur'an . 32:6-7, 31:20), stating that Allah created humans perfectly)

इसलिए  बच्चों  की  खतना  करना  और  हिन्दुओं  को     मुसलमान  बनाना  अल्लाह  की  बनायीं  फितरत   में परिवर्तन  करना  माना जाएगा।  और   जो भी  मुस्लमान  ऐसा  करेगा  या  करने  का  प्रयास  करेगा   वह  अल्लाह का  विरोधी  और   काफ़िर   है  . लेकिन    मुसलमान  को  हिन्दू  बना  लेने पर अल्लाह खुश  होगा   , क्योंकि  इस  से  अल्लाह  की  बनायी  फितरत में  परिवर्तन  नहीं  होता  .

radical changes to one's body.condemned as unlawful changes to fitra.


इसका मतलब  है  ,जितने अधिक मुसलमानों  को हिन्दू  बनाया  जाएगा।  अल्लाह  उतना  ही खुश  होगा


11 टिप्‍पणियां:

  1. जिस समय तलवार का युग था उस समय जब ये पूरी दुनिया को इस्लाम में बदलने की अपनी हसरत पूरी नहीं कर पाए तो अब तो ये कंप्यूटर का युग है जो इन्हें आता नहीं है तो अब ये क्या सफल हो पाएंगे...खुद के लगाये आग में ही जलकर मर जायेंगे सब...

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस्लाम को आंतकवादी बोलते हो। जापान मे तो अमेरिका ने परमाणु बम गिराया लाखो बेगुनाह मारे गये तो क्या अमेरिका आंतकवादी नही है। प्रथम विश्व युध्द मे करोडो लोग मारे गये इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या अब भी मुस्लिम आंतकवादी है। दूसरे विश्व युध्द मे भी लाखो करोडो निर्दोषो की जान गयी इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या मुस्लिम अब भी आंतकवादी हुए अगर नही तो फिर तुम इस्लाम को आंतकवादी बोलते कैसे हो। बेशक इस्लाम शान्ति का मज़हब है।और हाॅ कुछ हदीस ज़ईफ होती है।ज़ईफ हदीस उनको कहते है जो ईसाइ और यहूदियो ने गढी है। जैसे मुहम्मद साहब ने 9 साल की लडकी से निकाह किया ये ज़ईफ हदीस है। आयशा की उम्र 19 साल थी। ये उलमाओ ने साबित कर दिया है। क्योकि आयशा की बडी बहन आसमा आयशा से 10 साल बडी थी और आसमा का इंतकाल 100 वर्ष की आयु मे 73 हिज़री को हुआ। 100 मे से 73 घटाओ तो 27 साल हुए।आसमा से आयशा 10 साल छोटी थी तो 27-10=17 साल की हुई आयशा और आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम ने आयशा से 2 हिज़री को निकाह किया।अब 17+2=19 साल हुए। इस तरह शादी के वक्त आयशा की उम्र 19 आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम की 40 साल थी इन हिन्दुओ का इतिहास द्रोपती ने 5 पांडवो से शादी की क्या ये गलत नही है हम मुसलमान तो 11 औरते से शादी कर सकते है ऐसी औरते जो विधवा हो बेसहारा हो। लेकिन क्या द्रोपती सेक्स की भूखी थी। और शिव की पत्नी पार्वती ने एक लडके को जन्म दिया शिव की गैरमूजदगी मे। पार्वती ने फिर किसकी साथ सेक्स किया ।इसलिए शिव ने उस लडके की गर्दन काट दी क्या भगवान हत्या करता है ।श्री कृष्ण गोपियो नहाते हुए क्यो देखता था और उनके कपडे चुराता था जबकि कृष्ण तो भगवान था क्या भगवान ऐसा गंदा काम कर सकता है । महाभारत मे लिखा है कृष्ण की 16108 बीविया थी तो फिर हम मुस्लिमो एक से अधिक शादी करने पर बुरा कहा जाता । महाभारत युध्द मे जब अर्जुन हथियार डाल देता तो क्यो कृष्ण ये कहते है ऐ अर्जुन क्या तुम नपुंसक हो गये हो लडो अगर तुम लडते लडते मरे तो स्वर्ग को जाओगे और अगर जीत गये तो दुनिया का सुख मिलेगा। तो फिर हम मुस्लिमो को क्यो बुरा कहा जाता है हम जिहाद बुराई के खिलाफ लडते है अत्यचारियो और आक्रमणकारियो के विरूध वो अलग बात है कुछ मुस्लिम जिहाद के नाम पर बेगुनाहो को मारते है और जो ऐसा करते है वे मुस्लिम नही हैक्योकी आल्लाह पाक कुरान मे कहते है एक बेगुनाह का कत्ल सारी इंसानयत का कत्ल है। और सीता की बात करू तो राम तो भगवान थे क्या उनमे इतनी भी शक्ति नही कि वे सीता के अपहरण को रोक सके जब राम भगवान थे तो रावण की नाभि मे अमृत है ये उनको पहले से ही क्यो नही पता था रावण के भाई ने बताया तब पता चला। क्या तुम्हारे भगवान राम को कुछ पता ही नही कैसा भगवान है ये।और सीता को घर से बाहर निकाल दिया गया था तो लव कुश कहा से आये किससे सेक्स किया सीता ने बताओ।और इन्द्र देवता ने साधु का वेश धारण कर अपनी पुत्रवधु का बलात्कार किया फिर भी आप देवता क्यो मानते हो। खुजराहो के मन्दिर मे सेक्सी मानव मूर्तिया है क्या मन्दिर मे सेक्स की शिक्षा दी जाती है मन्दिरो मे नाच गाना डीजे आम है क्या ईश्वर की इबादत की जगह गाने हराम नही है ।राम ने हिरण का शिकार क्यो किया बहुत से हिन्दु कहते है हिरण मे राक्षस था तो क्या आपके राम भगवान मे हिरण और राक्षस को अलग करने की क्षमता नही थी ये कैसा भगवान है।हमे कहते हो जीव हत्या पाप है मै भी मानता हू कुत्ते के बेवजह मारना पाप है ।कीडी मकोडो को मारना पाप है पक्षियो को मारना पाप है। लेकिन ऐसे जानवर जिनका कुरान मे खाना का जिक्र है खा सकते है क्योकि मुर्गे कटडे बकरे नही खाऐगे तो इनकी जनसख्या इतनी हो जायेगी बाढ आ जायेगी इन जानवरो की। सारा जंगल का चारा ये खा जाया करेगे फिर इन्सान के लिए क्या बचेगा। हर घर मे कटडे बकरे होगे। बताओ अगर हर घर मे भैंसे मुर्गे होगे तो दुनिया कैसे चल पाऐगी। आए दिन सिर्फ हिन्दुस्तान मे लाखो मुर्गे और हजारो कटडे काटे जाते है । 70% लोग मांस खाकर पेट भरते है । सब को शाकाहारी भोजन दिया जाये तो महॅगाई कितनी हो जाएगी। समुद्री तट पर 90% लोग मछली खाकर पेट भरते है। समझ मे आया कुछ शाकाहारी भोजन खाने वालो मांस को गलत कहने वाले हिन्दुओ अक्ल का इस्तमाल करो

    उत्तर देंहटाएं
  3. हिन्दु धर्म मे शिव भगवान ही नसेडी है तो उसके कावडिया भी नसेडी। जितने त्योहार है हिन्दुओ के सब बकवास।होली को लेलो मानते है भाईचारे का त्योहार होली पर शराब पिलाकर एक दुसरे से दुश्मनी निकाली जाती है।होली से अगले दिन अखबार कम से कम 100 लोगो के मरने की पुष्टि करता है ।अब दीपावली को देखलो कितना प्रदुषण बुड्डे बीमार बुजुर्गो की मोत होती है। पटाखो के प्रदुषण से नयी नयी बीमारिया ऊतपन होती है। गणेशचतुर्थी के दिन पलास्टर ऑफ पेरिस नामक जहरीले मिट्टी से बनी करोडो मूर्तिया गंगा नदियो मे बह दी जाती है। पानी दूषित हो जाता है साथ ही साथ करोडो मछलिया मरती है तब कहा चली जाती है इनकी अक्ल जीव हत्या तो पाप हैहम मुस्लिमो को बोलते है चचेरी मुमेरी फुफेरी मुसेरी बहन से शादी कर लेते हो। इन चूतियाओ से पूछो बहन की परिभाषा क्या होती है मै बताता हू साइंस के अनुसार एक योनि से निकले इन्सान ही भाई बहन हो सकते है और कोई नही। तुम भाई बहन के चक्कर मे रह जाओ इसलिए हिन्दु लडको की शादिया भी नही होती अक्सर । हमारे बनत नाम के गाव मे 300 जाट के लडके रण्डवे है शादी नही होती फिर उनका सेक्स का मन करता है वे फिर लडकियो महिलाओ की साथ बलात्कार करते है ये है हिन्दु धर्म । और सबूत हिन्दुस्तान मे अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा रेप होते है । किसी मुस्लिम मुल्क का नाम दिखा दो या बता दो बता ही नही सकते। तुम्हारे हिन्दुओ लडकियो को कपडे पहनने की तमीज नही फिटिंग के कपडे छोटे कपडे जीन्स टीशर्ट आदि पहननती है ।भाई बाप के सामने भी शर्म नही आती तुमको ऐसे कपडो मे थू ऐसे कपडो मे को देखकर तो सभी इन्सानो की ऑटोमेटिकली नीयत खराब हो जाती है इसलिए हिन्दु और अंग्रेजी लडकियो की साथ बलात्कार होते हे इसके लिए ये लडकिया खुद जिम्मेदार है।।और हिन्दु लडकियो के हाथ मे सरे आम इंटरनेट वाला मोबाइल उसमे इतनी गंदी चीजे थू और लडकियो को पढाते इतने ज्यादा है जो उसकी शादी भी ना हो पढी लिखी को स्वीकार कौन करता है जल्दी से पढने का तो नाम है घरवालो के पैसे बरबाद करती है और लडको की साथ अय्याशी करती है उन बेचारो का टाइम वेस्ट। इन चूतियाओ से पूछो लडकि इतना ज्यादा पढकर क्या करेगी।मर्द उनके जनखे हो जो औरत कमाऐगी मर्द बैठकर खाऐगे।सही कहू तो मर्दो की नौकरिया खराब करती है जहा मर्द 20000 हजार रूपये महीने की माॅग करे वहा लडकिया 2000 मे ही तैय्यार हो जाती हैबहुत हिन्दु गर्व के साथ कहते है कि हमारी गीता मे लिखा है कि ईश्वर कण कण मे विध्मान है ।सब चीजे मे है इसलिए हम पत्थरो को पूजते है और भी बहुत सारी चीजो को पूजते है etc. लेकिन मै कहूगा इनकी ये सोच बिल्कुल गलत है क्योकि अगर कण कण मे भगवान है तो क्या गू गोबर मे भी है आपका भगवान। जबकि भगवान या खुदा तो पाक साफ है तो कण कण मे कहा से विध्मान हुआ भगवान। इसलिए मै आपसे कहना चाहता हू भगवान हर चीज मै नही है बल्कि हर चीज उसकी है और वो एक है इसलिए पूजा पाठ मूर्ति चित्र सब गलत है कुरान अल्लाह की किताब है इसके बताये गये रास्ते पर चलो। सबूत भी है क्योकि कुरान की आयते पढकर हम भूत प्रेत बुरी आत्माओ राक्षसो से छुटकारा पाते है।हमारी मस्जिद मे बहुत हिन्दु आते है ईलाज करवाने के लिए । और मौलवी कुरान की आयते पढकर ही सभी को ठीक करते है । इसलिए कुरान अल्लाह की किताब है । जबकि आप वेदो मंत्रो से दसरो को नुकसान पहुचा सकते है अच्छाई नही कर सकते किसी की और सभी भगत पंडित जादू टोना टोटके के अलावा करते ही क्या है। जबकि कुरान से अच्छाई के अलावा आप किसी के साथ बुरा कर ही नही सकते। इसलिए गैर मुस्लिमो कुरान पर ईमान लाओ।

    उत्तर देंहटाएं

  4. हर धर्म की किताब मे लिखा हुआ है झूठ बोलना पाप है फिर भी तुम हिन्दु अपनी तरफ से हदीसे कुरआन की आयते सब झूठ क्यो लिखते है। आयत नम्बर हदीस नम्बर सब अपनी तरफ से झूठ लिख देते हो। शर्म नही आती तुम्हे। कयामत के दिन जब इंसाफ होगा तब तुम्हे झूठा इल्जाम लगाने का पता चल जायेगा । हद होती है हर चीज की। आपने काबे पर भी इल्जाम लगा दिया। वो अल्लाह का घर है। वहा पर नमाज पडी जाती है लिंग की पूजा नही होती। और क्या कहते हो तुम हमे काबे की सच्चाई सामने क्यो नही लाते हो। यूटयूब पर हजारो विडियो पडी हुयी है देख लो कोई लिंग विंग नही है वहा। बस जन्नत का एक गोल पत्थर है और हर पत्थर का मतलब लिंग नही होता। बाईचान्स मान लो वहा शिव लिंग है।तो क्या आपके शिव लिंग मे इतनी भी ताकत नही है जो वहा से आजाद हो सके। तुम्हारी गंदी नजरो मे सभी मुस्लिम अच्छे नही है इसलिए सारे मुस्लिमो को शिव मार सके। आप तो कहते हो शिव ने पूरी दुनिया बनाई तो क्या एक छोटा सा काम नही कर सकते।
    इसलिए तो इन लिंग विंग पत्थरो के बूतो मे कोई ताकत नही होती। बकवास है हिन्दु धर्म।

    उत्तर देंहटाएं
  5. Ye sanatan dharm hai bhagwan ne Kai roop lekar apna Karm kiya.bhagwan Aur Devi devtao par lanchan lagane wale Tera sarvanaash hoga.Apne dham me jhako Phir baat kro 1400 1500 saal pahle Ek arabi paagale dwara chaalye gye napunshakta Ke sikar log apne Aap ko sudhar lo.

    उत्तर देंहटाएं
  6. Han Maulavi ki baat krte ho jo halala Ke Bhooke hote hain wo kya ilaz karenge atankwad Sikhane wale

    उत्तर देंहटाएं
  7. Isiliye Tum logo ko bhedchaal wala moorkh kaha jata hai pta kuch hai nhi bol diya muh se. Murk Shivling shiv ka ananat Brahmand ka prateek hai.wo aadi dev hain sakti Ke sagar hain. Hume murtipujak kahte ho Aur had jakar makka me kya chumte ho .pathar na.. Moorkh

    उत्तर देंहटाएं
  8. Tumhari ghatiya soch Aur neeyat upar tumhare Di gye ladkiyo Ke Padhai Ke comment se dikh rhi hai.han Apni Ma Behan ko bhi boore najar se dekhte hoge Tum Isiliye aisa likh rhe ho. Bhavisyapuran me likha hai Tum log jahan hoge Wahan santi nhi ho sakti.Iraq seriya Iska example hai.

    उत्तर देंहटाएं
  9. Parvati ji prakriti ki Devi thi wo adi sakti ki ardhagini thin Ek pran sakti Banane me Kitna samay lagta ye Brahmand ki nirmata swyambhoo ki poorak thi Tum moorkh ise nhi samjhoge. Sita Ji Ke bare me jagjahir tha wo jab garbhvati hui Tabhi wo wan gyin.samjhe gadhe

    उत्तर देंहटाएं
  10. Aur Ab batao Ek akele admi ko achanak dharma chalane ka khayal aaya Aur Tum gadhe use follow krte ho. Aur Han apne baap pardada ka itihaas Nikal Kar dekh Lena wo Hindu Honge. Aur ab Tum moorkhta wali baat krte ho

    उत्तर देंहटाएं
  11. हिन्दू धर्म क्या है सनातन या सस्बत

    उत्तर देंहटाएं