शनिवार, 30 जनवरी 2016

भारत में 21 प्रतिशत मुस्लिम अपराधी

अपने 60  साल   के शासन  ने  कांग्रेस ने  भारतीयों   को सेकुलरज्म   का ऐसा रोग  लगा दिया कि  उनकी  बुद्धि   में लकवा मार गया  , वह  मान बैठे हैं कि अपराधियों   का  कोई  धर्म  नहीं होता , और  मुसलमान  कभी  अपराधी या  आतंकी  नहीं   हो  सकते , फिर भी जब  मुस्लिम अपराधी  पकड़े  जाते हैं   तो भी  अखबार  और टी  वि  वाले उनको मुस्लिम   की  जगह एक  समुदाय   कहते हैं  , ऐसे बहुत कम   लोग हैं जो  निडर होकर आतंकियों   को  मुसलमान    कह देते हैं  ,

भारत सरकार,गृह मंत्रालय के संलग्‍नक कार्यालय नई दिल्‍ली स्थित राष्‍ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्‍यूरो(National Crime Records Bureau )द्वारा    भारत की पुलिस के आधुनिकीकरण हेतु भारतीय पुलिस को सूचना प्रौद्योगिकी में सशक्‍त करने का अधिदेश राष्‍ट्रीय अपराध रिकार्ड ब्‍यूरो को दिया गया है ।

रा.अ.रि.ब्‍यू.(N.C.R.B.)देश भर में "अपराध अपराधी सूचना प्रणाली (अ.अ.सू.प्र.)के अंतर्गत प्रत्‍येक राज्‍य अपराध रिकार्ड ब्‍यूरो एवं जिला अपराध रिकार्ड ब्‍यूरो में 762सर्वर-आधारित कम्‍प्‍यूटर सिस्‍टम स्‍थापित कर चुका है,ताकि अपराध,अपराधियों से संबंधित राष्‍ट्रीय स्‍तर डाटा बेस को व्‍यवस्थित किया जा सके .

ब्यूरो के अनुसार देश की जेलों में सजा काट रहे कुल कैदियों (3.85 लाख) में से केवल मुस्लिम अपराधियों की संख्या 53 हजार 836 (21 प्रतिशत) हैं | इसमें भी उत्तर प्रदेश के जेलों में ही मुस्लिम कैदियों की संख्या देश में सबसे ज्यादा है, उसके बाद बिहार, महाराष्ट्र और पश्चिम बंगाल का स्थान है।

सिख अपराधियों की संख्या (सजायाफ्ता और विचाराधीन) 4 प्रतिशत है।
और देश की जनसंख्या में दो प्रतिशत की भागीदारी करने वाले क्रिश्चियन का (सजायाफ्ता और विचाराधीन) कैदियों आंकड़ा भी   4 प्रतिशत है।
जबकि भारत की कुल जनसंख्या का 84 प्रतिशत हिन्दू हैं ,फिर भी अपराधों में संलिप्तता का औसत प्रतिशत 7% के आसपास हैं ,क्योंकि भारत के जेलों में बंद (सजायाफ्ता और विचाराधीन) कैदियों में से 7.4 फीसदी हिन्दू हैं .

यानी कहने का मतलब यह कि देश का हरेक 16वां व्यक्ति मुस्लिम है, लेकिन देश में होने वाले 100 अपराधों में 21 अपराध मुस्लिमों द्वारा  ही   किये  जाते हैं   .
अपराधों   के  इन आंकड़ों   को देख कर  देशभक्त  हिन्दुओं   को  सचेत  होने की  जरुरत है  , क्योंकि  जिस  देश की कुल आबादी  का  लगभग  पांचवां   भाग अपराधी ( मुसलमान ) हो ,उसकी  सुरक्षा और अखंडता हमेशा ही  खतरे में  बनी  रहेगी  , और यह खतरा और भी  गंभीर   हो  जायेगा  जब इस बात को मान  लिया जाये  कि अपराधियों और आतंकियों   का  कोई  धर्म  नहीं   होता। जबकि यह एक अकाट्य  सत्य है कि अपराध और मुसलमान पर्यायवाची  शब्द हैं  . ब्यूरो   में  दिए  गए  मुसलमानों  द्वारा  किये गए अपराधों   का वर्गीकृत  विश्लेषण  करने से पता  चलता है कि मुसलमान  , चोरी  , डकैती   ,लूट ,हत्या  , बलात्कार जैसे सामाजिक  अपराधों   के  आलावा  पाकिस्तान   के लिए  जासूसी  , देश में तोड़फोड़  ,सम्प्रदायवादी  दंगे , बम विस्फोट  जैसे  अपराधों  में संलग्न  पाये  गए  हैं  ,जो   स्पष्ट  रूप   में देश   द्रोह   है , लेकिन  जीतनी  भी राजनीतिक  पार्टियां हैं   वह मुस्लिम  वोटों  के लिए  सेकुलरिज्म  की आड़  में इस सत्य  को  स्वीकार   नहीं  करती  , क्योंकि  जो भी  यह बात  कहता , या लिखता है ,उस पर सम्प्रदायवादी , होने का लेबल  लगा दिया जाता है  .
ऊपर से  मुस्लिम  विद्वान  और  नेता सेकुलरिज्म का  ऐसा  पाखण्ड   करते  है  ,कि  जैसे यही लोग  सेकुलरज्म के ठेकेदार है. जबकि  वास्तव में  मुसलमान  सेकुलरिज्म   के दुश्मन  है  , इस  बात की  सत्यता   की  जाँच  करने के लिए किसी भी  मुस्लिम  से पूछिये  कि वह किसी भी  ऐसे मुस्लिम  देश का  नाम  बताये  जहां सेकुलर  सरकार हो , और   गैर  मुस्लिमों  को  वही  अधिकार  प्राप्त हों  , जो वहां के मुस्लिमों    को  हों ,
क्या सेकुलरिज्म का ठेका सिर्फ  हिन्दुओं   ने  ले  रखा है? यह  अनादि काल हमारा  देश  है  , हम  सेकुलरिज्म के बहाने मुस्लिम  तुष्टिकरण और उनकी  राष्ट्र विरोधी चालों   को  सफल  नहीं  देंगे

 जय हिन्दू  राष्ट्र !

 नोट - यह  महत्वपूर्ण  जानकारी   हमारे   जागरूक पाठक  और मित्र  श्री जितेंद्र  प्रताप  सिंह  जी  ने  भेजी    थी , इसके लिए उनका  आभार  . (212)

http://ncrb.gov.in/

8 टिप्‍पणियां:

  1. hindu bhai koi apradh nahi karte wo bhgvan hai\
    ya wo masahari nahi hai

    उत्तर देंहटाएं
  2. इस्लाम को आंतकवादी बोलते हो। जापान मे तो अमेरिका ने परमाणु बम गिराया लाखो बेगुनाह मारे गये तो क्या अमेरिका आंतकवादी नही है। प्रथम विश्व युध्द मे करोडो लोग मारे गये इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या अब भी मुस्लिम आंतकवादी है। दूसरे विश्व युध्द मे भी लाखो करोडो निर्दोषो की जान गयी इनको मारने मे भी कोई मुस्लिम नही था। तो क्या मुस्लिम अब भी आंतकवादी हुए अगर नही तो फिर तुम इस्लाम को आंतकवादी बोलते कैसे हो। बेशक इस्लाम शान्ति का मज़हब है।और हाॅ कुछ हदीस ज़ईफ होती है।ज़ईफ हदीस उनको कहते है जो ईसाइ और यहूदियो ने गढी है। जैसे मुहम्मद साहब ने 9 साल की लडकी से निकाह किया ये ज़ईफ हदीस है। आयशा की उम्र 19 साल थी। ये उलमाओ ने साबित कर दिया है। क्योकि आयशा की बडी बहन आसमा आयशा से 10 साल बडी थी और आसमा का इंतकाल 100 वर्ष की आयु मे 73 हिज़री को हुआ। 100 मे से 73 घटाओ तो 27 साल हुए।आसमा से आयशा 10 साल छोटी थी तो 27-10=17 साल की हुई आयशा और आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम ने आयशा से 2 हिज़री को निकाह किया।अब 17+2=19 साल हुए। इस तरह शादी के वक्त आयशा की उम्र 19 आप सल्ललाहु अलैही वसल्लम की 40 साल थी।हिन्दुओ का इतिहास द्रोपती ने 5 पांडवो से शादी की तो क्या ये गलत नही है हम मुसलमान तो 4 औरते से शादी कर सकते है ऐसी औरते जो विधवा हो बेसहारा हो। लेकिन क्या द्रोपती सेक्स की भूखी थी। और शिव की पत्नी पार्वती ने गणेश को जन्म दिया शिव की पीछे। पार्वती ने फिर किस के साथ सेक्स किया ।इसलिए शिव ने उस लडके की गर्दन काट दी क्या भगवान हत्या करता है ।श्री कृष्ण गोपियो को नहाते हुए क्यो देखता था और उनके कपडे चुराता था जबकि कृष्ण तो भगवान था क्या भगवान ऐसा गंदा काम कर सकता है । महाभारत मे लिखा है कृष्ण की 16108 बीविया थी तो फिर हम मुस्लिमो को एक से अधिक शादी करने पर बुरा कहा जाता । महाभारत युध्द मे जब अर्जुन हथियार डाल देता तो क्यो कृष्ण ये कहते है ऐ अर्जुन क्या तुम नपुंसक हो गये हो लडो अगर तुम लडते लडते मरे तो स्वर्ग को जाओगे और अगर जीत गये तो दुनिया का सुख मिलेगा। तो फिर हम मुस्लिमो को क्यो बुरा कहा जाता है हम जिहाद बुराई के खिलाफ लडते है अत्यचारियो और आक्रमणकारियो के विरूध वो अलग बात है कुछ लोग जिहाद के नाम पर बेगुनाहो को मारते है और जो ऐसा करते है वे ना मुस्लिम है और ना ही इन्सान जानवर है। राम और कृष्ण के तो मा बाप थे क्या कोई इन्सान भगवान को जन्म दे सकता है। वेद मे तो लिखा है ईश्वर अजन्मा है और सीता की बात करू तो राम तो भगवान थे क्या उनमे इतनी भी शक्ति नही थी कि वे सीता के अपहरण को रोक सके। राम जब भगवान थे तो रावण की नाभि मे अमृत है ये उनको पहले से ही क्यो नही पता था रावण के भाई ने बताया तब पता चला। क्या तुम्हारे भगवान राम को कुछ पता ही नही कैसा भगवान है ये। और इन्द्र देवता ने साधु का वेश धारण कर अपनी पुत्रवधु का बलात्कार किया फिर भी आप देवता क्यो मानते हो। खुजराहो के मन्दिर मे सेक्सी मानव मूर्तिया है क्या मन्दिर मे सेक्स की शिक्षा दी जाती है मन्दिरो मे नाच गाना डीजे आम है क्या ईश्वर की इबादत की जगह गाने हराम नही है ।राम ने हिरण का शिकार क्यो किया बहुत से हिन्दु कहते है हिरण मे राक्षस था तो क्या आपके राम भगवान मे हिरण और राक्षस को अलग करने की क्षमता नही थी ये कैसा भगवान है।हमे कहते हो जीव हत्या पाप है मै भी मानता हू कुत्ते के बेवजह मारना पाप है । कीडी मकोडो को मारना पाप है पक्षियो को मारना पाप है।

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. Bhai tera koe kam nai h kya jah dekho kisi na kisi lekh m bolta h khud tu bta rha ki tum log m kitne free log h
      Ur agar khud m sachayee h to proof do na proof yha wha ki bat krte ho
      Galat galat hota h chahe kahi bh ho.smjhe tum
      Sharab sharab rahegi chahe tum piyo ya koe hindu
      Waise janwar ka gala kat kar qurbani nam dena gunah h
      Hatya h
      Chahe tum kro ya koe hindu smjhe

      हटाएं
  3. हमे कहते हो मांस क्यो खाते हो लेकिन ऐसे जानवर जिनका कुरान मे खाना का जिक्र है खा सकते है क्योकि मुर्गे बकरे नही खाऐगे तो इनकी जनसख्या इतनी हो जायेगी बाढ आ जायेगी इन जानवरो की। सारा जंगल का चारा ये खा जाया करेगे फिर इन्सान के लिए क्या बचेगा। हर घर मे बकरे होगे। बताओ अगर हर घर मे भैंसे मुर्गे होगे तो दुनिया कैसे चल पाऐगी। आए दिन सिर्फ हिन्दुस्तान मे लाखो मुर्गे और हजारो कटडे काटे जाते है । 70% लोग मांस खाकर पेट भरते है । सब को शाकाहारी भोजन दिया जाये तो महॅगाई कितनी हो जाएगी। समुद्री तट पर 90% लोग मछली खाकर पेट भरते है। समझ मे आया कुछ शाकाहारी भोजन खाने वालो मांस को गलत कहने वाले हिन्दुओ अक्ल का इस्तमाल करो ।खैर हिन्दु धर्म मे शिव भगवान ही नशा करते है तो उसके मानने वाले भी शराबी हुए इसलिए हिन्दुओ मे शराब आम है ।डाक कावड मे ऊधम मचाते है ना जाने कितनो की मौत होती है रास्ते मे कोई मुसाफिर आये तो गाली देते है । जितने त्योहार है हिन्दुओ के सब बकवास। होली को देखलो कहते है भाईचारे का त्योहार है। पर शराब पिलाकर एक दुसरे से दुश्मनी निकाली जाती है।होली से अगले दिन अखबार कम से कम 100 लोगो के मरने की पुष्टि करता है ।अब दीपावली को देखलो कितना प्रदुषण बुड्डे बीमार बुजुर्गो की मोत होती है। पटाखो के प्रदुषण से नयी नयी बीमारिया ऊतपन होती है। गणेशचतुर्थी के दिन पलास्टर ऑफ पेरिस नामक जहरीले मिट्टी से बनी करोडो मूर्तिया गंगा नदियो मे बह दी जाती है। पानी दूषित हो जाता है साथ ही साथ करोडो मछलिया मरती है तब कहा चली जाती है इनकी अक्ल जीव हत्या तो पाप है।हम मुस्लिमो को बोलते है चचेरी मुमेरी फुफेरी मुसेरी बहन से शादी कर लेते हो। इन चूतियाओ से पूछो बहन की परिभाषा क्या होती है मै बताता हू साइंस के अनुसार एक योनि से निकले इन्सान ही भाई बहन हो सकते है और कोई नही। तुम भाई बहन के चक्कर मे रह जाओ इसलिए हिन्दु लडको की शादिया भी नही होती अक्सर । हमारे गाव मे 300 हिन्दु लडके रण्डवे है। शादी नही होती उनकी गोत जात पात ऊॅच नीच की वजह से फिर उनका सेक्स का मन करता है वे फिर लडकियो महिलाओ की साथ बलात्कार करते है ये है हिन्दु धर्म । और सबूत हिन्दुस्तान मे अमेरिका के बाद सबसे ज्यादा रेप होते है । किसी मुस्लिम मुल्क का नाम दिखा दो या बता दो बता ही नही सकते। तुम्हारे हिन्दुओ लडकियो को कपडे पहनने की तमीज नही फिटिंग के कपडे छोटे कपडे जीन्स टीशर्ट आदि पहननती है ।भाई बाप के सामने भी शर्म नही आती तुमको ऐसे कपडो मे थू ऐसे कपडो मे लडकी को देखकर तो सभी इन्सानो की ऑटोमेटिकली नीयत खराब हो जाती है इसलिए हिन्दु और अंग्रेजी लडकियो की साथ बलात्कार होते हे इसके लिए ये लडकिया खुद जिम्मेदार है।।और हिन्दु लडकियो के हाथ मे सरे आम इंटरनेट वाला मोबाइल उसमे इतनी गंदी चीजे।

    उत्तर देंहटाएं
  4. तुम हिन्दु अपनी लडकियो को पढाते इतने ज्यादा हो जो उसकी शादी भी ना हो सके पढी लिखी लडकी को स्वीकार कौन करता है जल्दी से। पढने का तो नाम है घरवालो के पैसे बरबाद करती है और अय्याशी करती है। इन चूतियाओ से पूछो लडकी इतना ज्यादा पढकर क्या करेगी। मर्द उनके जनखे है जो औरत से कमवाऐगे और खुद बैठकर खाऐगे।सही कहू तो मर्दो की नौकरिया खराब करती है जहा मर्द 20 हजार रूपये महीने की मांग करे वहा लडकिया 2 हजार मे ही तैय्यार हो जाती है। सही कहू बेरोजगारी लडकियो को नौकरी देनी की वजह से है। और सालो तुम्हारा धार्मिक पहनावा क्या है साडी। जिसमे औरत का आधा पेट दिखता है। पेट छुपाने की चीज है या सबको दिखाने की बताओ । औरत की ईज्जत से खिलवाड खुद करते हो । और मर्दो क धार्मिक पहनावा क्या है धोती। जरा से हवा चलती है तो धोती एकदम उडती है। सारी शर्मगाह दिखाई देती है। शर्म नही आती तुम हिन्दुओ को। क्या ये तुम हिन्दुओ की असलियत नही है। और तुम्हारे सभी भगवान भी धोती के अलावा कुछ नही पहनते थे। बाकी सारा शरीर खुला रहता है
    ये कैसे भगवान है जिन्हे कपडे पहनने की भी तमीज नही है।

    उत्तर देंहटाएं
  5. हिन्दु गर्व के साथ कहते है कि हमारी गीता मे लिखा है कि ईश्वर हर चीज मे मौजूद है ।सब चीजे मे है इसलिए हम पत्थरो को पूजते है और भी बहुत सारी चीजो को पूजते है etc. लेकिन मै कहूगा इनकी ये सोच बिल्कुल गलत है क्योकि अगर हर चीज मे भगवान है तो क्या गू गोबर मे भी है आपका भगवान। जबकि भगवान या खुदा तो पाक साफ है तो दुनिया की हर चीज मे कहा से हुआ भगवान। इसलिए मै आपसे कहना चाहता हू भगवान हर चीज मै नही है बल्कि हर चीज उसकी है और वो एक है इसलिए पूजा पाठ मूर्ति चित्र सब गलत है।कुरान अल्लाह की किताब है इसके बताये गये रास्ते पर चलो। सबूत भी है क्योकि कुरान की आयते पढकर हम भूत प्रेत बुरी आत्माओ राक्षसो से छुटकारा पाते है।हमारी मस्जिद मे बहुत हिन्दु आते है ईलाज करवाने के लिए । और मौलवी कुरान की आयते पढकर ही सभी को ठीक करते है । इसलिए कुरान अल्लाह की किताब है । जबकि आप वेदो मंत्रो से दसरो को नुकसान पहुचा सकते है अच्छाई नही कर सकते किसी की और सभी भगत पंडित जादू टोना टोटके के अलावा करते ही क्या है। जबकि कुरान से अच्छाई के अलावा आप किसी के साथ बुरा कर ही नही सकते। इसलिए गैर मुस्लिमो कुरान पर ईमान लाओ।
    हर धर्म की किताब मे लिखा हुआ है झूठ बोलना पाप है फिर भी तुम हिन्दु अपनी तरफ से हदीसे कुरआन की आयते सब झूठ क्यो लिखते है। आयत नम्बर हदीस नम्बर सब अपनी तरफ से झूठ लिख देते हो। शर्म नही आती तुम्हे। कयामत के दिन जब इंसाफ होगा तब तुम्हे झूठा इल्जाम लगाने का पता चल जायेगा । हद होती है हर चीज की। आपने काबे पर भी इल्जाम लगा दिया। वो अल्लाह का घर है। वहा पर नमाज पडी जाती है लिंग की पूजा नही होती। और क्या कहते हो तुम हमे काबे की सच्चाई सामने क्यो नही लाते हो। यूटयूब पर हजारो विडियो पडी हुयी है देख लो कोई लिंग विंग नही है वहा। बस जन्नत का एक गोल पत्थर है और हर पत्थर का मतलब लिंग नही होता। बाईचान्स मान लो वहा शिव लिंग है।तो क्या आपके शिव लिंग मे इतनी भी ताकत नही है जो वहा से आजाद हो सके। तुम्हारी गंदी नजरो मे सभी मुस्लिम अच्छे नही है इसलिए सारे मुस्लिमो को शिव मार सके। आप तो कहते हो शिव ने पूरी दुनिया बनाई तो क्या एक छोटा सा काम नही कर सकते।
    इसलिए तो इन लिंग विंग पत्थरो के बूतो मे कोई ताकत नही होती। बकवास है हिन्दु धर्म।

    उत्तर देंहटाएं
  6. Bhai nafees malik tum gussa naa kro... In hinduo ko koi knowledge ni h... Ye muslims pr bol rhe h.. Inhe khud k dhrm or khud k bhagvaano k baare me kuch pga ni h... Kuch bolte h hm apne allah ki raah pr ni chl rhe h... Koi naa.. Me in sb ke ans. De skta hu..but mere kuch questns h... Koi b vidvaan h to ans jrur de... In ke..
    Hindu dhrm me 1 se hmjada shaadi krna kyu mna h jb ki tum log jinhe b bhgvaan mante ho sb ki 2 yaa 2 se jada wufe the... Raja dashrat ki 4 thi.. Krishana ki 16k thi.. To tum log kyu ni kr skte jb tum logo k bhgvaan kr skte h to..
    N parvati ne aone mael se ganesh ko bnaya n fir usme jaan fuk di.. Chlo ye baat smjh me aati h.. K supernatural powera the unke pass... But vo to shiv ki wife thi to unko ky jrurt pdi esi ki unhe apne mael se beta peda krna pda... Shiv se kyu ni kiya... Ky shiv ek beta oeda ni kr skte the... N moreovr jb ganesh ne shiv ko ander jaane se roka to shiv ne ganesh ka sir kaat diya... Mtlb jeev htaya glt h but ek bacche ko maarna shi h...
    N ye kese ho skta h k shiv ko hi ni pta chla k ganesh parvati ka beta h... N jb oarvafi ne shiv ko vapas ganesh ka sir jidne k liye kha... To shiv ne haathi k bache ka sir kaat kr lga diya...??ye kese ho skta h bhala... Ek insaan k chote se bache or haati k bache ka sir..??
    N jb shiv bhagvaan h to apne bache ka sir ni jod skte the.. Esa konsa bhagvaan ho skta h jiski powers limited ho... N haathi k bache ka sir kaatna glt ni h..??
    Phle k jamane me or tumhri ramayan or mahabharat k accordin bhavaan hamesh ek raja mharaha k ghr peda hote the... Kbi kisi gareeb k ghr peda kyu ni hue... N vo kisi dusht or paapi insaan ko sja dene k liye 30-32 saal tk wait krte the... Kyu bhai.. Jb vo bhagvaan h to 30-32 wait kyu krna..??
    Tum logo k itne sare bhagvaan the to unke sare bacche mar gye... N bhagvaan k bacche to bhagvaan hi hue... Krishna ki 16k wifes thi.. To ky unke 1 b bacha jinda ni h ab...
    Chori tumhre krishna ne sikhai balatkaar krna tumhre krishna ne sikhaya.. Ladkiyo ko chedna tumhre krishna ne sikhaya... Jhut bolna tumhre krishna ne sikhaya..
    Sare glt kaam to tum logo k bhagvaan sikha kr gye.. Or glt hmre navi ko bolte ho ary bevakoofo phle ache history pdho or dekho pyr ka shbd laya kon ek saath rhne k liye bola kisne... God ek h bola kisne..
    Or ye btao shiv ki puri body me koi or hissa ni mila jo ling ki puja krte ho.. Ab ye mat bolna k vo kuch or h.. Sb jaante h ling kise bolte h... N shiv ling shape or color ky h ye b sb jaante h..
    N jb raam bhagvaan tha to use ky jrurt thi k vo seeta ki agni priksha le.. Mtlb use naa to khud k pyr pr bhrosa tha or naa hi seeta pr..
    N jb hindu dhram sb se purana h to srf india me hi kyu h hindu...

    उत्तर देंहटाएं
    उत्तर
    1. इस टिप्पणी को लेखक द्वारा हटा दिया गया है.

      हटाएं