सोमवार, 18 दिसंबर 2017

सोनिया का गुप्त रोग और मुक्त भोग !!

यदि   सोनिया  गांधी  को  दुनिया की  सबसे  बड़ी  रहस्यमयी  महिला   कहा  जाये ,तो अधिकांश लोग  इस बात   से सहमत  हो जायेंगे , क्योंकि  काग्रेसी भी  सोनिया   के  बारे में  जितना  जानते  हैं  ,उस से  हजारों  गुना  नहीं जानते  है ,इसके दो  मुख्य  कारण  यह  है , एक तो सोनिया  ने अपने  जन्म स्थान  , जन्म  की तारीख   , और शिक्षा  के  बारे में  जो  भी  जानकारी  दी  है , वह सब झूठी  पायी   गयी .दूसरा  कारण  यह है  कि  सोनिया  अपनी  तरफ  से एक  भी वाक्य  नहीं  बोलती   बल्कि   उसे जो भी लिख कर दिया  जाता  है  , बिन अर्थ समझे  ही  बोल देती  है ,से  इस से  सोनिया  की असलियत  पर पर्दा पड़ा  रहता  है .राजिव  गांधी की  मौत  के  बाद  सोनिया निरंकुश  और  पद  लोलुप    होगयी   , और सत्ता  के लिए  कुछ  भी  करने   लगी  थी .    ऎसी  औरत  के बारे में  गोस्वामी  तुलसीदास  जी  ने  कहा  है ,
"महा बृष्टि  चलि  फूट किआरी , जिम सुतंत्र भएँ बिगरहिं   नारी "
रामचरित  मानस -किष्किन्धा कांड -दोहा 14 चौपाई 7
लेकिन  यह  एक  अटल  सत्य  है ,कि एक  व्यक्ति  एक व्यक्ति  को सदा   के लिए मूर्ख   बनाये  रखता  है , और एक व्यक्ति कुछ    लोगों को   कुछ  समय तक   मुर्ख  बना  सकता  है ,  लेकिन  एक व्यक्ति सभी लोगों  को सदा  के लिए  मूर्ख  नहीं  बनाये  रखता  ,
  यही  नियम  सोनिया  के  ऊपर  लागु   होता  है ,वैसे  तो  सोनिया लोगों  के सामने  खुद  को शरीफ  ,चरित्रवान  और  भोली  होने का  ढोंग  करती  आयी  है.,सत्ता  पाने  के  लिए सोनिया ने  जो रास्ता  अपनाया  था  उसे  जानकर  बेशर्मों  को  भी शर्म  आ जायेगी ,    कहावत है   जहाँ  भोग  वहाँ  रोग  जरुर  होता  है  और सोनिया  के साथ  यही  हुआ .क्योकि  इस साल  से पहले  सोनिया  जब  भी  बीमार  पड़ती  थी  , तो चुपचाप  से   विदेश  जाकर  अपना इलाज  करवा आती  थी . और लोग भी  इस  बात पर अधिक ध्यान नही देते थे ,और इसे सोनिया  का  निजी मामला  समझते थे ,लेकिन  जब 2 सितंबर 2013  सोमवार  को  जब  सोनिया  " खाद्य सुरक्षा  अधिनियम 2013 "(The National Food Security Bill, 2013  )    पर  अपना  वोट  देने  के  लिए संसद  में  जा रही थी  ,तो रास्ते में ही  अचानक  गिर  गयी   , और  वहाँ  मौजूद  लोगों  ने उसे सहारा  देकर  संसद  के भीतर  भेजा  था ,इसके बाद जब सोनिया संसद से  बाहर निकली  तो उसकी तरफ  से  जनार्दन  द्विवेदी  ने  मीडिया  से कहा कि  सोनिया  को इलाज के लिए   बाहर  भेजा  जा रहा  है ,यह  खबर सबसे पहले एन डी  टी वी ने  प्रसारित की थी ,  जिसकी हेडिंग  यह  थी "NDTV- September 02, 2013 -New Delhi:  Sonia Gandhi, president of the ruling Congress party, is expected to fly to the United States for a scheduled medical check-up, a news agency report said, just days after she took ill during a marathon parliament debate.

"Her going to the U.S. for a medical check-up is due," the Press Trust of India (PTI) news agency quoted an unnamed senior party leader as saying.Ms Gandhi, who underwent surgery in the United States for an undisclosed ailment in August 2011 flew there on September 2 last year for a check-up. She went again in February this year, the PTI report said.

अर्थात-  सत्ताधारी   पार्टी  कांग्रेस  की  अध्यक्ष  संसद  में  ही  बहस  के दौरान  बीमार  हो  गयी   है , इसलिए  उनकी  शल्य चिकित्सा   के  लिए अमेरिका  भेजने  की  व्यवस्था   की  जा  रही  है , इसके  पहले भी   वह   अगस्त  में  जाँच के लिए  अमेरिका   गयी  थी ,

और  इस  खबर  ने  लोगों  को यह  सोचने  के लिए  विवश  कर दिया कि  क्या भारत में  कोई एक भी ऐसा  डाक्टर  नहीं  है  जो सोनिया  का इलाज  कर सके  ? और सोनिया  को  कौनसी  बीमारी  है   ,जिसका  इलाज  सिर्फ  अमेरिका  में ही  हो  सकता  है ?
 लेकिन  उसकी   किस्मत  फूट  गयी  कि एक गुप्त   बीमारी  ने  सोनिया  शराफत   का  भंडा  फोड़  दिया .क्योंकि   लोगों ने सोनिया के रोग  के  रहस्य  से  पर्दा  उठा  दिया .पूरा  विवरण  इस प्रकार  है ,
1-अस्पताल  का नाम  और  पता 
चूँकि  सोनिया  कट्टर  ईसाई   है  ,इसलिए  वह  अमेरका  के  जिस अस्पताल  में इलाज  करवाने  गयी  थी  , उसे " पिसबिटेरिअन(Presbyterian )  चर्च    द्वारा  चलाया   जा रहा  है  , यह  ईसाईयों  का एक   सुधारवादी  संप्रदाय   है , जिसके  प्रतीक  चिन्ह  में   लैटिन  में  " ARDENS SED VIRENS  "लिखा  है इस अस्पताल  का  नाम  "York-Presbyterian Hospital/Weill   है .इसी के पास में एक और अस्पताल  है जहाँ  कैंसर  का इलाज  होता  है ,  इसका नाम" Memorial Sloan—Kettering Cancer Center 's"  (MCKCC  ) है .और  पूरा पता  इस  प्रकार  है ,
Address
Memorial Hospital
1275 York Avenue
(Between 67th and 68th Streets)New York, NY 10065.United States
Phone-
212-639-2000
Appointments
800-525-2225
Website

http://www.mskcc.org/

यह  विश्व  का सबसे  पुराना  और बड़ा कैंसर  का   अस्पताल   है .( the world’s oldest and largest hospital for treating cancer.)

2-सोनिया  के डाक्टर का परिचय 
सोनिया  का ऑपरेशन  करने  वाले डाक्टर  का  नाम "Dattatreyudu Nori -दत्तात्रेयुडु  नोरी " है .डाक्टर  नोरी M.D., FACR, FACRO   का  जन्म  आंध्र प्रदेश  के कृष्णा   जिले  में  हुआ  था  , और इन्होने  करनूल  में  मेडिकल  में अंडर ग्रेजुएशन     किया  था , फिर उस्मानिया  यूनीवर्सिटी  से   ग्रेजुएशन  करके न्यूयॉर्क  चले  गए ,  वहाँ  उनको ओंको लोजी executive vice chairman of the Radiation Oncology   विभाग में  वाइस चैयर मेन  बना  दिया  गया , फिर  बाद में नोरी  को कैंसर  विभाग  का   चीफ  बना दिया  गया .

3-सोनिया  का  सहयात्री  पुलोक चटर्जी 

जब  सोनिया  इलाज  के लिए   अमेरका  के लिए  रवाना  हो  रही  थी  ,तो उसके साथ  परिवार का  कोई व्यक्ति  नहीं   था ,केवल पुलोक  चटर्जी  नाम  का एक  व्यक्ति सोनिया  के  साथ  अमेरिका  गया  था . इस से  भी  लोगों  सोनिया की  बीमारी  पर शक  हो गया   कि इतनी गम्भीर  बीमारी होने  पर  भी  न तो मिडिया  को खबर दी  गयी और न  सोनिया  पुत्र  राहुल  को  कोई पता था  . राहुल और प्रियंका  आदि  तो  बाद  में  गए , वास्तव  में पुलोक  चटर्जी सोनिया  का "Officer on Special Duty to Sonia Gandhi "के  रूप  में  सोनिया  के साथ  गया  था .पुलोक  चटर्जी   उत्तर प्रदेश  में  पैदा हुआ था और सन 1981  में 32  साल  की आयु  में सुल्तानपुर  का कलेक्टर   बन गया  था .बाद  में राजीव  गांधी  ने उसे  प्रधान  मंत्री  कार्यालय  (P.M.O.  )  में डिपुटी  सेक्रेटरी   नियुक्त  कर  दिया ,फिर  सन 1985  में  राजीव ने पुलोक को " राजीव  गांधी फाउंडेशन   - Rajiv Gandhi Foundation  "  का  अध्यक्ष   बना  दिया ,इसलिए  इतने समय राजीव  और सोनिया  के साथ रह  कर पुलोक  सोनिया  की  असलियत   जान  चूका  था  . और जब  सन  2004  में   केंद्र में  यू  .पी . ए (U.P.A. सरकार सत्ता में  आयी  तो सोनिया ने पुलोक  को भारत सरकार  का  जॉइंट  सेक्रेटरी(Joint Secretary to Government of India ) बना  दिया .चूँक पुलोक  को पता  था  कि सोनिया   को  कौन  सी  बीमारी   है , चूँकि  पुलोक  को  पता  चल  गाय कि अय्याशी के कारन ही  सोनिया   को कोई गुप्त रोग  हुआ  है  जिसे वह  छुपाती  रहती  है  और  भारत  में  इलाज करवाने  से पोल  खुल  सकती    है , तभी  पुलोक  ने  एक  अमेरिकन   मैगजीन " The Ladies' Home Journal"में डाक्टर  नोरी    के  बारे में यह  पढ़ा  "one of the top doctors in America for the treatment of cancers in women"इसी लिए  पुलोक  सोनिया  को चुपचाप  डाक्टर  नोरी   के पास एक ईसाई  अस्पताल  में  ले  गया  था .  लेकिन  सोनिया  के दुर्भाग्य से   लोगों को  पता चल  गया  कि सोनिया   की  बच्चेदानी (गर्भाशय )  में कैंसर   है . जिसे मेडिकल  की  भाषा में " सर्विकल कैंसर - CERVICAL CANCER  " कहा   जाता  है .

4-गर्भाशय  के  कैंसर  के लक्षण  
हिंदी  विकीपीडिया   सर्वाईकल  कैंसर  के लक्षण  यह  बताये  गए हैं ,गर्भाशय-ग्रीवा कैंसर , गर्भाशय ग्रीवा या गर्भाशय ग्रीवा क्षेत्र की घातक रसौली है. यह योनि रक्त-स्राव के साथ मौजूद हो सकती है, लेकिन इसके लक्षण, कैंसर के उन्नत चरण पर होने तक अनुपस्थित हो सकते हैं.ग्रीवा कैंसर के लक्षणों में शामिल हैं: भूख में कमी, वज़न में कमी, थकान, श्रोणि में दर्द, पीठ दर्द, पैर दर्द, एक पैर में सूजन, योनि से भारी रक्त-स्राव,
5-सोनिया के रोग  का  कारण 
अभी  तक  जो  लोग सोनिया को शरीफ और चरित्रवान   औरत  समझते  आये  हैं , उन्हें  यह जानकर आश्चर्य  होगा  कि  सोनिया के  गुप्त   रोग  का  कारण " ह्यूमन   पैपिलोमा वाइरस -human papilloma virus (HPV ) " बताया   गया  है , और विकी पीडिया  में इस वाइरस  यानी बीमारी   का असली कारण   यह  बताया  गया  है ,
"Women who have many sexual partners (or who have sex with men who have had many other partners) have a greater risk.

http://en.wikipedia.org/wiki/Cervical_cancer#Causes

विकी पीडिया  में इस वाइरस को " human immunodeficiency virus "भी   कहा  जाता  है ,और इस कैंसर का कारण अधिक मात्र में सेक्स करना है...विकिपीडिया से हमे पता चला की कैंसर का सबसे अधिक खतरा तब होता है जब किसी के बहुत सारे पार्टनर हो या किसी औरत  ने  ने बहुत सारे पुरुषों   साथ सेक्स किया हो.ऐसी महिलाओं को ज़्यादा ख़तरा है, जिनके कई यौन साथी हैं,या  जिनका कई अन्य साथियों के साथ यौन संबंध रहा हो. लेकिन  सोनिया गाँधी अपनी इस बीमारी को लोगो से छिपा रही है.(जानकारी  के  लिए  तस्वीर देखिये )

http://upload.wikimedia.org/wikipedia/commons/thumb/f/f7/Gray1167.svg/220px-Gray1167.svg.png

यद्यपि  सोनिया  ने  अपनी  इस  बीमारी   की  बात  को छुपाने  का  भरपूर   प्रयत्न   किया था और मिडिया ने  असलियत  को दबा  दिया   था  लेकिन सोनिया का   चरित्र  फिर भी सबको  पता  चल  गया  और एक अंगरेजी  अख़बार  डेक्कन  हेराल्ड  ने  असली  बात  छाप  दी  जो इस  वेबसाईट  में  मौजूद  है

http://www.deccanherald.com/content/181508/sonia-diagnosed-cervical-cancer.html

6-विश्व  का  सबसे  कीमती  गर्भाशय 
यदि  हम  सोनिया  की बच्चेदानी   या गर्भाशय को दुनिया  का  सबसे कीमती  और  मूल्यवान  कहें  तो गलत  नही  होगा , क्योकि  अग्रेजी  अखबार " वन  इंडिया न्यूज -One India news " के मंगलवार-  दिनांक 1 अक्टूबर 2013  की  खबर  के अनुसार जनता  पार्टी  के पूर्व  सुप्रीमो  और  भारतीय  जनता पार्टी  के सांसद  " सुब्रामण्यम  स्वामी  ने संसद  में  सोनिया के इलाज   पर "एक हजार  आठ सौ अस्सी  करोड़ ( Rs 1,880 cr)
  रुपये के खर्च  पर सवाल  उठाया   , और  कहा  कि वह  जल्द ही  इसके  बारे में एक पी .आई .एल  . दायर  करने   जा रहे  हैं ,
स्वामी  ने सोनिया   के इलाज  के खर्चे  पर आपत्ति  उठाते   हुए सवाल  किया  कि सोनिया  जैसी   साधारण दुश्चरित्र    औरत केलिए  करोड़ों  रुपये  बर्बाद  करना  कहाँ  तक उचित  है ? जबकि  भारत में ही बिना खर्चे  ही इलाज  हो सकता  था .

 http://news.oneindia.in/2012/10/01/sonia-gandhi-mysterious-treatment-cost-rs-1880-cr-swamy-1077450.html

जो लोग सोनिया  की भक्ति  में अंधे  होकर देश  की  आर्थिक समस्या  पर ध्यान नहीं  देते उनको  पता होना  चाहिए  जितने रुपयों  में  सोनिया का  इलाज   हुआ था बिलकुल उतने ही रुपयों  में पश्चिम  बंगाल   के राज्य कर्मचारियों  को 6 % प्रतिशत  मंहगाई  भत्ता  दिया  जा सकता  था  ,  कर्मचारी  जिसकी  मांग कर रहे थे सबूत  के  लिए हिंदी अखबार " पत्रिका दिनांक -21  नवम्बर 2013 के पेज 19  पर  छपी  इस खबर  को देखिये .
"कोलकाता -पश्चिम  बंगाल  के वित्त  मंत्री अमित  मित्रा  ने बुधवार को  कहा  कि मंहगाई भत्ते  में छह फीसदी  की बढ़ोतरी के लिए 1880 /-करोड़  रुपयों  की जरुरत  होगी , और  तृणमूल सरकार आर्थिक समस्या से ग्रस्त है और घोषित डी . ए (D.A). देने  में सफल  नहीं  होगी .

इसलिए  आज  इस  बात   बडी जरुरत है कि ऐसी चरित्रहीन  ,खर्चीली  , विदेशी  , हिन्दू  विरोधी  महिला को बेनकाब  किया  जाये ताकि यह अपनी  औलाद  के साथ  वापिस अपने देश भाग  जाये . और लोग  इसकी  पार्टी  का  सफाया कर दें .

(200/147)

5 टिप्‍पणियां:

  1. My name is Dr. Ashutosh Chauhan A Phrenologist in Kokilaben Hospital,We are urgently in need of kidney donors in Kokilaben Hospital India for the sum of $450,000,00,All donors are to reply via Email only: hospitalcarecenter@gmail.com or Email: kokilabendhirubhaihospital@gmail.com
    WhatsApp +91 7795833215

    उत्तर देंहटाएं