शुक्रवार, 26 जून 2020

भंडाफोडू के लेखों से मुसलमानों में खलबली !

(यह लेख   सन  2014 में  तैयार किया गया था  , इसे पढ़ कर  आप  समझ जायेंगे कि इस्लाम जैसे विषय पर लिखने  से कैसी  कैसी  धमकियों    ,प्रलोभन और  गालियों   का सामना करना पड़ा  था  , और हमने सिर्फ  कुरान  की एक आयत  से विरोधियों    का सदा के लिए मुंह कैसे  बंद  कर  दिया   था )

हिंदी ब्लॉग जगत में भंडाफोडू एकमात्र ऐसा ब्लॉग है , जो विद्वेष रहित किसी की भावना को आहत किये बिना इस्लाम सम्बन्धी सत्य और तथ्य को उजागर करता आया है , क्योंकि सब जानते हैं कि मुसलमानों का उद्देश्य पूरी दुनिया पर इस्लामी हुकूमत कायम करना है , और इसके लिएवह कुछ भी कर सकते हैं ,चूँकि भारत एशिया में सबसे बड़ा हिन्दू देश है , इसलिए मुस्लिम देशों के पैसों से भारत में हिन्दुओं का धर्म परिवर्तन कराने का षडयंत्र चल रहा है , इस्लाम के दुष्प्रचार से हिन्दू युवा पीढ़ी पहले तो इस्लाम के प्रति आकर्षित होती है , फिर या तो सेकुलर बन जाती या फिर मुसलमान बन जाती है . और ऎसे गुमराह युवाओं को विभिन्न अपराधों और आतंकी कामों में लगा दिया जाता है

लेकिन जब भंडाफोडू ब्लॉग अपने तर्कपूर्ण लेखों से मुसलमानों की योजना पर पानी फेरने लगा तो , उनकी नजर में सबसे बड़ा दुश्मन बन गया . सब जानते हैं कि मुस्लिम प्रचारक हिन्दुओं का धर्म परिवर्तन कराने के लिए अक्सर हिन्दू ग्रंथों का ऐसा अर्थ प्रस्तुत देते हैं जिस से सिद्ध हो जाए कि हिन्दू वैदिक ग्रंथों में भी अल्लाह और मुहम्मद का उल्लेख है .

जाकिर नायक ऐसी धूर्तता में पारंगत है , कुछ समय पहले उसने दावा किया था क़ि भविष्य पुराण में मुहम्मद साहब को एक अवतार बताया गया है . स्पष्ट है क़ि ऐसा कहने के पीछे जाकिर की मंशा हिन्दू धर्म और इस्लाम से अनभिज्ञ हिन्दुओं का धर्म परिवर्तन कराना ही था , इसलिए जब कुछ पाठकों ने हम से इस विषय पर कोई लेख देने का आग्रह किया तो गुरुवार, 25 सितंबर 2014 को भंडाफोडू ब्लॉग में एक लेख प्रकाशित किया गया , जो फेसबुक में भी दिया गया था . जिसका शीर्षक " महामद ( मुहम्मद ) एक पैशाच धर्म स्थापक ! "था .

यद्यपि उस लेख मे भविष्य पुराण का वही अंश ज्यों का त्यों दिया गया था जिसमे मुहम्मद का उल्लेख था . यहांतक लेख का शीर्षक भी भविष्य पुराण के श्लोकों से लिया गया था .

लेकिन जैसे हमेशा भंडाफोडू के हर लेख पर मुसलमान , गालियों और धमकियों की बरसात कर देते हैं . उक्त लेख पर भी ऐसा ही हुआ। जाकिर नायक के किसी चेले ने उस लेख पर फर्जी नाम से मुझे इस्लाम कबूल करने के लिए जो धमकी दी है , वह पाठकों के समक्ष प्रस्तुत है चूँकि उस बेनामी ने रोमन अंग्रजी में जो कुछ कॉमेंट दिया है , वह हिंदी में भी दिया जा रहा है .
1- बेनामी का कॉमेंट

SURAJONE12 अक्टूबर 2014 को 8:22 am
YE SAB LIKHNE SE TUNE TAUBA NA KI AUR IMAAN NA LAYA TO INSHA ALLAH
BADTAR SE BADTAR MAUT AAYEGI TERI
TERI LAAS KO GIDHAD KHAYENGE JIS ME SE AISI BADBOO AAEGI KE KOI DUR SE BHI NAHI DEKHEGA.
BEIZZAT HOKAR MAREGA, TADAP TADAP KAR MAREGA,
QAYAMAT KE DIN SAKHT SE SAKHT AZAAB ME MUBTLA HOGA JO HAMENSHA HAMENSHA HOGA, JISSE BACHNA NAMUMKIN HOGA
JIS UNGLIYON SE TUNE LIKHA HAI WO CANCER ME MUBTALA HOGI AUR WO TUJHE BAHOT SAALO TAK BARDAST SE BAHAR DARD DEGI.
TU JAANWARO SE BHI BADTAR DUKH BHARI LAMBI ZINDAGI GUZAREGA.
MAUT MAGEGA LEKIN MAUT NAHI AAYGI... HARAAM KI AULAAD

"ये सब लिखने से तूने तौबा न की और ईमान न लाया तो , इंशा अल्लाह बदतर से बदतर मौत आएगी तेरी लाश को गिद्ध खाएंगे , जिस से ऐसी बदबू आएगी कि कोई दूर से भी नहीं देखेगा . बेइज्जत होकर मरेगा . तड़प तड़प कर मरेगा . क़ियामत के दिन सख्त से सख्त अजाब में मुब्तिला होगा , जो हमेशा हमेशा होगा , जिस से बचना ना मुमकिन होगा , जिन उँगलियों से तूने लिखा है ,वो कैंसर में मुब्तिला होंगी ,और वो तुझ्र बहुत सालों तक बर्दाश्त से बाहर दर्द देंगी , तू जानवरों से भी बदतर दुखभरी लम्बी जिंदगी गुजारेगा ,मौत मांगेगा लेकिन मौत नहीं आएगी .
हराम की औलाद "

2-भंडाफोडू की तरफ से जवाब

जनाब (SURAJONE) यानी बेनामी हजरत की खिदमत में गुजारिश , हुजूर आपने मुझे इस लेख के लिए बददुआ देकर अपनी बेअक़्ली का मुजाहिरा कर दिया है , क्योंकि आपकी इन बद दुआओं से लगता है कि आपने मुझे ही भविष्य पुराण का लेखक मान लिया है . जबकि आपको पता होना चाहिए कि भविष्यपुराण सैकड़ों साल पहले ही बन चूका था , इसलिए आपकी बददुआओं का मेरे ऊपर कोई असर नहीं होगा , काश आपका अल्लाह बिना सोचे समझे दूसरों पर झूठे इल्जाम लगा कर बद दुआ देना सिखाने की बजाये थोड़ी अक्ल भी अता कर देता कर देता .

रही बात ईमान लाने की तो , मैं ईमान कहाँ से लाऊँ , ईमान तो मुस्लिम दहशतगर्दों के कब्जे में कैद है , वह अपनी हरेक ऐसी नाजायज हरकतों को ईमान साबित करने पर आमादा है , जिसका हकीकी इस्लाम से कोई वास्ता नहीं है . जनाब ईमान लफ्जों से नहीं आमाल से होता है .
आप मुझे जहन्नम के अज़ाब से डराने पहले बताइये कि , क्या अल्लाह और रसूल ऐसे ऐसे नामनिहाद मुस्लिमों को जन्नत भेजेंगे या जहन्नम , जिन्होंने अल्लाह की बनाई इस खूबसूरत दुनिया को बर्बाद करने में कोई कमी नहीं छोड़ी . बताइये जब अल्लाह जमीन पर जगह जगह धमाके और बिछी हुई लाशें देखेगा तो क्या ऐसे मुसलमानों को शाबाशी देगा ?

और आखिरी बात यह है कि आपने बिना सोचे समझे मुझे गाली देकर साबित कर दिया कि आप सच्चे मुसलमान नहीं हो सकते ,क्योंकि आप कुरान की इस आयात के खिलाफ काम कर रहे हो , जिस में अल्लाह के सच्चे बन्दे की खासियत बताई गयी है , और अगर आप कुरआन भूल गए हों तो हम बताये देते हैं , पढ़िए और अपने दोस्तों को पढ़वाइये ,

"وَعِبَادُ الرَّحْمَٰنِ الَّذِينَ يَمْشُونَ عَلَى الْأَرْضِ هَوْنًا وَإِذَا خَاطَبَهُمُ الْجَاهِلُونَ قَالُوا سَلَامًا "
सूरा अल फुरकान - 25:63

"व् इबादुर्रहमान यमशूना अलल अर्ज हौना ,इजा खातबाहुमुल जाहिलूना कालू सलामा "

अर्थात - और रहमान ( अल्लाह ) के बन्दे तो वही हैं , जो धरती पर नम्रता पूर्वक चलते हैं , जब कोई भी उनसे असभ्यता से सम्बोधित करता है , तो वह उसपर भी सलाम भेजते हैं .

"true servants of the Most Gracious are [only] they who walk gently on earth, and who, whenever the foolish address them, reply with [words of] peace; ( 25:63)

WaAAibadu arrahmani allatheena yamshoona AAala al-ardi hawnan wa-itha khatabahumu aljahiloona qaloo salama

मुझे पता था कि जब भी मैं कभी सत्य को उजागर करूँगा , विरोधी मेरे लेखों खंडन नहीं कर पाने पर ऐसे ही अभद्र अशिष्ट कमेंट दते रहेंगे। मुझे इनका उत्तर देना भी आता है , लेकिन दुःख तो तब होता है कि कुछ हिन्दू भाई भी मेरे इस लेखन कार्य को मेरी आय का साधन मान लेते हैं . ऐसे लोगों को समझ लेना चाहिए कि जब तक हम विरोधियों की नीति और नियत के बारे में सही जानकारी प्राप्त नहीं कर लेते , केवल हिन्दू धर्म की तारीफ़ करने से हिन्दू धर्म नहीं बच सकेगा . हम अपना काम करते रहेंगे चाहे कोई साथ दे या नहीं।

पाठकों  के आग्रह पर हम  तीन  भागों में भंडाफोडू    ब्लॉग  का  उद्देश्य ,, संघर्ष  ,और   विजय का संक्षिप्त  इतिहास       देंगे    आप इसे अवश्य पढ़िए ऐसी विनती  है


(218)

1 टिप्पणी:

  1. आपके लेख के ss ले के ट्वीटर पर जब भी मुल्लो से बात चीत होती है तो उनकी फट जाती है और मुजे ब्लॉक कर् के भाग जाते है मैं मेरे ग्रुप में सब को आपका ब्लॉग देता हूं और साथ मे मा की कसम देता हूं कि दूसरों को पढवाये और कट्टर हिन्दू बनाये जय श्री कृष्ण एक गुजराती कट्टर हिन्दू।

    जवाब देंहटाएं