शनिवार, 25 जुलाई 2020

इन सवालों का जवाब कोई मुस्लिम नहीं दे सकेगा


मुसलमानों को बचपन से  ही यह सिखाया  जाता है कि कुरान अल्लाह द्वारा  नाजिल की गयी किताब है  , और उस पर ईमान लाना फर्ज  और उसमे सवाल करना कुफ्र  है  , इसी लिए मुसलमान  कुरान को समझने की जगह तोते की तरह रटते  रहते हैं  , क्योंकि  खुद कुरान में कुरान के बारे में   यह लिखा  है;
"तुम पर ऐसी किताब उतारी गयी है , जो हरेक बात खोल खोल कर बयान करने  वाली है , और  मुस्लिमों के लिए  मार्ग दर्शन करने वाली  है  "सूरा  -नहल 16 :89 
"हिदायत करने के लिए कुरान पर ईमान  लाना  जरूरी  है  " सूरा - बकरा  2 :4 
"इस किताब के एक हिस्से को मानना  और दूसरे को नहीं  मानना जीवन और आख़िरत को नष्ट करना   है  " सूरा  -बकरा 2:85 
  , लेकिन जैसे  जैसे हम  अरबी व्याकरण  के अनुसार कुरान को  समझते गये वैसे वैसे  कई सवाल  उठने लगे   जिनका सतोषजनक  उत्तर  नहीं मिल  सका  उन में  से  यह    सवाल  यहाँ  दिए  जा  रहे  हैं  इनका  सही  जवाब  कोई मुस्लिम विद्वान  नहीं   दे  सकेगा 

1 - बिस्मिल्लाह  की आयत 
मुसलमान  जब  भी कोई  काम  शुरू  करते  हैं  तो  सबसे  पहले  बिस्मिल्लाह   की  आयत  पढ़ते  हैं  लेकिन अधिकांश मुस्लिम  नहीं   जानते  कि कुरान  की  सबसे  पहली  सूरा   यानि   (Chapter  )  में बिस्मिल्लाह  की  आयत नहीं   थी  , यहाँ  तक  जब कुरान की  लगातार  चार  सूरतें  उतर  गयी  थीं उनमे पहले अल्लाह  का नाम  भी  नहीं  था  , इसका कारण क्या  है  ?
2 -अल्लाहु अकबर 
  वह मुसलमानों   का नारा  है इसे "नाराए  तकबीर  " कहा  जाता  है ,यही नारा  लगा  कर मुसलमानों  ने करोड़ों लोगों  की हत्याएं  कीं कई देश  बर्बाद  किये  यहाँ  तक यही  नारा  लगा  कर मुसलमानों   ने इमाम  हुसैन  को  क़त्ल  किया था , जैसा क़ि एक  शायर  ने लिखा  है ,
"अजीब  हाल हुआ  इस्लाम  की तकदीर  के साथ  - हुसैन  क़त्ल हुए  नाराये तकबीर  के  साथ  "
लेकिन  हम   सभी  मुस्लिम  विद्वानोँ से पूछते  हैं  कि पूरी कुरान में से  एक ऐसी आयत दिखाएँ  ,जिसमे   "अल्लाहु  अकबर " लिखा  हो 

3 -कलमा  कहाँ से  आया 
कलमा एक प्रकार से इस्लाम का मूल मन्त्र  है  ,बच्चा पैदा होते ही उसके कान में कलमा सुना  दिया  जाता  ,  मुस्लिम बनने के लिए कलमा पढ़ना  अनिवार्य   है   , जो  लोग कलमा  नहीं पढ़ते उन्हें  काफिर  माना  जाता  है  ,जब  जब  जहाँ भी  इस्लामी  हुकूमत  होती है मुस्लिम  शासक  गैर मुस्लिमों  को  कलमा पढ़ने  पर मजबूर  करते  थे  , और जो कलमा पढ़ने  से इंकार  करता  था उसे क़त्ल  कर देते  यहाँ तक जब गुरु गोविन्द  सिंह  के छोटे  से बच्चों  ने  कलमा  पढ़ने  से  इंकार  कर  दिया तो उनको  दीवार  में जिन्दा  चनवा  दिया  था  , लेकिन  हम  सभी मुस्लिमों  को चुनौती  देते  हैं  कि पूरी  कुरान   में  बताये   पूरा   कलमा   कहां लिखा  है  ?
4 - खतना  का आदेश 
मुसलमान अपने छोटे छोटे   लड़कों  का  खतना    उसी  समय करा देते हैं जब वह बिलकुल   अबोध  और नादान होते हैं  ,  और  लिंग की खतना  करना  मुस्लिम होने   का  प्रमाणपत्र माना  जाता  है  ,  लेकिन  इसके बारे  में कुरान  में कोई  आदेश  नहीं  है  , और जब कुरान  में खतना  का हुक्म  नहीं  है  तो  मुसलिम  बच्चों  का खतना  क्यों  कराते  हैं   ?
 5 -नमाज  पढ़ने  का  आदेश  
सभी लोग  अच्छी तरह  से  जानते  हैं  कि मुसलमान  जब चाहे  किसी  भी सार्वजनिक  जमीन  , जैसे ,रोड  , पार्क  , रेलवे का प्लेटफार्म  जैसी  जगह  पर जमा   हो  जाते  है  , और उस जगह को अवरुद्ध  करके  एक तरह  की कसरत  करते  हैं  ,  इसका मकसद लोगों को परेशान करना  होता है  ,
लेकिन  धूर्त  मुस्लिम  ऐसी उठक  बैठक  और कमर उठाने  को नमाज  पढ़ना कहते  हैं  ,  लेकिन  इस  व्यायाम  या कसरत  में पढ़ने   जैसी कोई  चीज  नहीं   है  ,  हम  सभी मुस्लिमों   को चुतौती  देते  हैं   कि पूरी कुरान  में से एक  आयत ही  ऐसी दिखा दें जिसमे लिखा  हो  " नमाज़ पढो " या नमाज पढ़ना  फर्ज  है
जो लोग कुरान को  अर्थ  सहित पढ़ते हैं  उन्हें पता होगा कि अल्लाह  ने कुरान में लोगों  के  सामने  चुनौती  दी    है कि इस  जैसी  एक  सूरा  बना  कर  दिखाओ   !   हम  भी  अरबी  में चुनौती देते हैं  कि इन पांच  सवालों   का  जवाब   देकर बताओ  अगर सच्चे  हो 

"لم تجبيبو و لن تجبيبوٰ  "

(440)

5 टिप्‍पणियां:

  1. साला इस्लाम में तो सब हवाई है 😂😂😂
    🚩🚩🚩 जय जय श्रीराम 🙏🙏🙏

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. जिनके खुद घर शीशे के होते है वो दुसरो के घरों पर पत्थर नही फेकते

      इस्लाम पर ज्ञान देने की जगह अपने गर्न्थो को पढ़े पहले
      👉 आर्यो ने सनातनी(हिन्दू)से सवाल किए है पहले इसका जवाब दे Facebook link 👇

      https://t.co/F5I5VmppTS

      किताब लिंक 👇👇👇
      *📗संसार के पौराणिक विद्वानों से 31 प्रश्न-आचार्य डॉ श्रीराम आर्य📗*
      https://t.co/vbUtjUlR3c

      हटाएं
  2. बहुत ही अछि ब्लॉग है जो भी है इसके चालक उसे कोटि कोटि नमन ।। लिखते रहे और कोई सहायता कर सके तो बताये अबश्य

    जवाब देंहटाएं
    उत्तर
    1. जिनके खुद घर शीशे के होते है वो दुसरो के घरों पर पत्थर नही फेकते

      इस्लाम पर ज्ञान देने की जगह अपने गर्न्थो को पढ़े पहले
      👉 आर्यो ने सनातनी(हिन्दू)से सवाल किए है पहले इसका जवाब दे Facebook link 👇

      https://t.co/F5I5VmppTS

      किताब लिंक 👇👇👇
      *📗संसार के पौराणिक विद्वानों से 31 प्रश्न-आचार्य डॉ श्रीराम आर्य📗*
      https://t.co/vbUtjUlR3c

      हटाएं