बुधवार, 2 सितंबर 2020

अल्लाह के खिलाफ कानूनी कार्यवाही हो !

  हम  अपने सभी  प्रबुद्ध  पाठकों  के समक्ष  पहले  ही  स्पष्ट  कर देना  चाहते  हैं  कि हमें  कानून   का ज्ञान  नहीं   है लेकिन  फिर भी  हम   अल्लाह या ईश्वर  ( God   ) के बारे में जो तथ्य    दे रहे  हैं  जिसे    दुनिया के सभी   देशों  की अदालतें   मानती    है  , कोई भी अदालत  इसके विरुद्ध   फैसला   नहीं   दे  सकेगा    , 

1-अल्लाह के होने  का सबूत 

अल्लाह  के अस्तित्व  को सिद्ध  करने के लिए किसी किताब  को  पेश करने की जरूरत  नहीं   , अधिकांश  देशों   अल्लाह यानि  ईश्वर  के नाम    से शपथ  ली   जाती     है   ,  जो अदालत में मानी  जाती  है  ,  यही नहीं  जब  कोई  ऐसी   प्राकृतिक   आपदा   आती  हो  जिसके  लिए  किसी मनुष्य    या कई मनुष्यों  को जिम्मेदार  नहीं  ठहराया   जा  सकता  हो  , जैसे भूकंप  , बाढ़  ,  आसमान   से बिजली  गिरना  इत्यादि  तो    इसे  ईश्वर   का  काम  माना  जाता   जिसे  " Act of  God  ) कहा  जाता  है   अदालत   भी इस  से इंकार  नहीं    करती है   , इस  से  साबित होता  है   ईश्वर   बुरे  काम  भी  कर  सकता  है  .

2-क्या   ईश्वर  और  अल्लाह  एकहि  है  

यद्यपि   मो क़ गांदी नामके  एक    सनकी  से  ईश्वर  और अल्लाह को  एक  ही  साबित करने के काफी   बरसों  तक लोगों  को धोखे में  रखा   और हिन्दू  नादाँ हिन्दू  इस झूठ  को  सही  समझते रहे  लेकिन   काफी बरस पहले   कुरान  ने  सच   बता  दिया  ,   इसमें साफ   लिखा  है   " ला  इलाहा िललाल्लाह " अर्थात    अल्लाह  के अलावा  कोई  ईश्वर   नहीं      है   ,  इसी  लिए कानूनी  कार्यवाही    ईश्वर  के खिलाफ  नहीं  बल्कि  अल्लाह  के खिलाफ  होनी   चाहिए  .

3-क्या  भारत  का कानून  अल्लाह् पर लागु होगा  ?

कुरान की   सूरा  काफ  50:16  में बताया गया कि अल्लाह  मुसलमानों  की गर्दन  की मुख्य  धमनी  निकट   है  यानी  सर्वप्यापि   है  इस आयत की तफ़्सीर में अंगरेजी   में  लिखा  है 

 "  Allah is  omnipresent ? His presence as in his energy is present everywhere. As he says, that he is closer to you than your jugular vein in quran 50:16

,कुरान  इस  आयात  के अनुसार   अगर   अल्लाह सर्वव्यापी   है  तो  यह   मान  लिया जायेगा कि अल्लाह  भारत  में  भी  रहता    है  , और उसके ऊपर   वह   सभी  कानून  लागु   होंगे  जो  भारत   के अन्य   रहवासियों  पर   है  , या मुसलमान  घोषित  कर  दें  की  अल्लाह  भारत  में  नहीं     है  किसी  अन्य   देश  में  रहता   है  , 

4-जन्नत  का निर्माण 

अल्लाह  ने   कुरान  भेजने  से पहले  यानी  लगभग  सन 610 ई ० से पहले  आसमान  में एक  बहुत  बड़ा  बगीचा  बनवाया  था  जिसका नाम उसने  "जन्नत  -  " रखा  , क्योंकि  जन्नत  का अर्थ    बाग़    (  Garden  )    ही  है , फिर अल्लाह  ने इस बाग़  का  विज्ञापन कुरान   के माध्यम   से  किया   और  मुसलमानों  को  जन्नत में आने  का प्रलोभन   देकर  कहा  ,

"فَادْخُلِي فِي عِبَادِي ,89:29

وَادْخُلِي جَنَّتِي  "89:39

(फद्खुली इबादी   , वद्खुली जन्नती "

""अब पहुंच जा मेरे बन्दों  में  और पहुँच  जा  मेरी जन्नत  में  "

सूरा -फज्र  89 :29 -30 

Enter thou among my Bondmen ,and thou enter my  Garden  "

89:29-30

नॉट  -इस आयत में आये इबादी शब्द  का अर्थ  मुस्लिम विद्वान् इबादत करने वाले  बताते  हैं  लेकिन  सही अर्थ   "बंधुआ लोग  ( Bondmen  )   है  

5-जन्नत  एक  वेश्यालय  है   

-फिर अल्लाह  ने  जन्नत  में   9  से  30 साल  की आयु वाली  कुंवारी  लड़कियों  को   कैद   कर   लिया  ,  अल्लाह ने  उन्ही  लड़कियों  को चुना जिनके  स्तन गोल ,कठोर  और उठे हुए हों  ,  और जिनकी योनि   सील बंद   हो  यानी किसी ने उनके साथ  सहवास नहीं  किया  हो   ,  सबसे बुरी बात  तो यह  है  की अल्लाह  ने इन   बच्चियों  और युवतियों   मुसलमानों  से निकाह  कररने  या  बच्चे पैदा  कराने  के लिए नहीं नहीं  रखा  है  , बल्कि निकाह  के बिना मुसलमानों  को उनके साथ  , व्यभिचार   और सामूहिक बलात्कार  करने के लिए रखा  है  ,  इस बात  को  साबित करने के लिए किसी किताब की जरुरत नहीं  दुनिया का  कोई भी मुस्लिम  इंकार नहीं  कर  सकेगा  ,

हमारे  विचार  से अल्लाह इन  अपराधों  का दोषी   है    ,  1 -वेश्यालय  चलना  , उसका विज्ञापन करना   2 -नाबालिग  ,बालिग   सभी  लड़कियों  को  कैद करके   रखना   ,  3 - अपने जिहादी    लोगों  द्वारा उन    स्त्रियों    का बलात्कार  करवाना   ,  या सामूहिक  व्यभिचार  कराना    

नोट -जो भी लोग कानून के जानकर  हैं  कृपया   कमेंट करें    या   सूचित करें की  भारतीय  कानून के अधीन अल्लाह पर  किस किस धरा के अधीन  केस  किया  जा सकता  है  ?ध्वस्त  करके  मस्जिद  बना  देना  ,  देश  में तोड़फोड ,दंगे  करते  रहना   , हमेशा अशांति  का माहौल  बनाये  रखना  , और अगर ऐसे महान  काम  करते  में मर  गए  तो  जन्नत   का टिकट कोई भी मुल्ला  तुरंत  दे  देगा  ,  उसे  देखते  ही अल्लाह  जन्नत  का गेट खुलवा  देगा   , जन्नत  के लिए इन 

इन  पवित्र  धार्मिक  कामों  की  प्रेरणा  देने  के लिया अल्लाह  पर कौन  कौन  सी  धाराएं  लग  सकती  है   ,कृपया गंभीरता  से इसका उत्तर  दीजिये    ताकि  अल्लाह  पर क़ानूनी  कर्यवाही  हो  जाये  ,क्योंकि  जब हमारे कानून  में अज्ञात  के ऊपर भी  केस  हो  सकता  तो  अदृश्य  के ऊपर केस  क्यों  नहीं   हो  सकता ?

(443)


5 टिप्‍पणियां:

  1. Bhai ek post prophet Muhammad ke biwi safiya bin hayat ke bare mein bhi kare ki kese poapat sahab ne uske pati,bhai, baap ko maar kar usi din uska rape kiya tha.

    जवाब देंहटाएं
  2. आप बहुत अच्छी जानकारियां दे रहे थे,मैं आपका सम्मान करता हूं,आप फिर से लिखना शुरू करें ना !

    जवाब देंहटाएं
  3. हां अल्लाह पर कानूनी कार्यवाही होनी चाहिए अल्लाह के किडनैपr है

    जवाब देंहटाएं
  4. कोई तो है जो जिहादी एवं विकृत मानसिकता का भांडा फोड कर रहा है।

    जवाब देंहटाएं